लोकसभा चुनाव 2019 में जहाँ अधिकतर बड़े नेता धर्म और जात-पात के नाम पर वोट मांग रहे हैं। वहीं समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव अपने ‘विकास’ और काम के आधार पर जनता से वोट मांग रहे हैं। अखिलेश तीन चरण बीत जाने के बाद अब चौथे चरण के प्रचार में भी अपनी सरकार में कराए गए कामों को लेकर वोट मांगते दिख रहे हैं।

हरदोई में एक रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने अपनी सरकार के काम गिनाते हुए डायल 100 की बात की। उन्होंने बीजेपी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जोरदार हमला किया है। अखिलेश ने अपने भाषण में कहा है कि, “यूपी पुलिस में जो बुराई पहले थी वो योगी सरकार में दुबारा से आ गई। हमने पुलिस को अच्छी व्यवस्था देने के लिए अधिकारीयों को अमेरिका भेजा था।”

उन्होंने आगे कहा कि, “हमने पुलिस को नई गाड़ी देकर उन्हें उन्नत और सम्मान देने का काम किया। वरना पहले पुलिस वाले थाने में लोगों से ही डीजल-पेट्रोल भरवा लेते थे। अब 100 नंबर को ख़राब कर दिया गया है, क्योंकि बाबा मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) को कुछ समझ नहीं आता। योगी को समझ नहीं आता कि 100 नंबर चलता कैसे है।”

उन्होंने कहा कि, “डायल 100 की तारीफ पुलिस के बड़े अधिकारी नहीं कर सकते और न ही इसकी हकीकत नहीं बता सकते क्योंकि उन्हें डर है कि वो सस्पेंड हो जाएंगे। अखिलेश ने प्रधानमंत्री और भाजपा नेता को गंगा की सफाई और गौ रक्षा के नाम इन्होने जनता को धोखा दिया।

जहाँ बीजेपी 2019 का लोकसभा चुनाव को हिन्दू-मुस्लिम और राष्ट्रवाद पर लड़ रही है। पीएम मोदी से लेकर योगी, राजनाथ के भाषणों में हिन्दू मुस्लिम और राष्ट्रवाद सुनने को मिल रहा है। ऐसे में अपने सामाजिक समीकरण को छोड़कर अखिलेश यादव अपने काम दिखाकर वोट मांग रहे हैं। ये देश में आपसी भाईचारा बढ़ाने और सौहार्द बनाए रखने का अच्छा उदहारण है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + fifteen =