विकास दुबे के कथित एनकाउंटर से जुड़ी एक अहम जानकारी सामने आई है। विकास की पत्नी का दावा है कि उनके पति के पुलिस से अच्छे संबंध थे।

विकास की पत्नी रिचा ने कहा है कि लॉकडाउन के समय पुलिसवाले उनके बिकरु गांव वाले घर पर आते थे। वो विकास के साथ लंच और डिनर करते और उनमें से कुछ तो रात भर वहीं रुक जाते थे।

रिचा का आरोप है कि पुलिस ने पहले उनके पति का  इस्तेमाल किया और बाद में बर्बाद कर दिया।

रिचा के दावों को बल मिलता है विनय तिवारी जैसे पुलिसकर्मियों से।

8 जुलाई को इंस्पेक्टर विनय को विकास की मदद करने के लिए गिरफ्तार किया गया था। उसपर आरोप थे कि उसने विकास को होने वाली पुलिस रेड के बारे में बताया था। जिसके बाद विकास ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी। उसपर विकास को कई आपराधिक केस में छोड़ देने का भी आरोप लगा है।

कुछ दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने विकास के एनकाउंटर पर सुनवाई करते हुए योगी सरकार को फटकार लगाई है। कोर्ट ने विकास के खुलेआम घूमने पर सवाल उठाए। साथ ही, कोर्ट ने प्रदेश की चरमराई कानून व्यवस्था के लिए सरकार को ही ज़िम्मेदार ठहराया है।

पूरे घटनाक्रम को देखकर लगता है कि पुलिस के संरक्षण में विकास दुबे की आपराधिक दुनिया फल-फूल रही थी। यही कारण है कि उसके एनकाउंटर पर अब भी लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 − 4 =