भारत सरकार द्वारा कोरोना वैक्सीन को मंजूरी देने के बाद कई नेताओं ने सरकार की राजनीतिक मंशा पर सवाल उठाए थे, जिनमें सबसे आगे रहे उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव।

बीते दिनों अखिलेश यादव ने एक कार्यक्रम के दौरान साफ कह दिया था कि वह भाजपा की कोरोना वैक्सीन पर यकीन नहीं करते। इसलिए वह टीका अभी नहीं लगवाएंगे।

शनिवार को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भारत में कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण अभियान का शुभारंभ कर दिया गया है। इसी बीच उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद से कोरोना का टीका लगवाने के बाद एक वार्ड बॉय की मौत की खबर सामने आई है।

बताया जा रहा है कि मुरादाबाद के जिला अस्पताल के एक वार्ड बॉय महिपाल सिंह की रविवार शाम अचानक मौत हो गई। दरअसल शनिवार को ही उन्हें कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया गया था।

जिसके बाद उनके सीने में दर्द और सांस लेने में परेशानी होने लगी। इसे देखते हुए महिपाल सिंह के परिजन उन्हें जिला अस्पताल में ले आए। जहाँ डॉक्टर द्वारा उन्हें मृत घोषित कर दिया

इस मामले में समाजवादी पार्टी ने भाजपा सरकार को निशाने पर लिया है। समाजवादी पार्टी ने अपने आधिकारिक फेसबुक अकाउंट पर इस खबर को शेयर करते हुए लिखा है कि “मुरादाबाद में जिला अस्पताल के वार्ड बॉय महीपाल सिंह की मृत्यु, एक दिन पहले लगा था कोरोना का टीका। अत्यंत दुःखद! हर जीवन अमूल्य है।

सरकार कोरोना टीके लगाने के दौरान अधिक सतर्क रहे। जिन्हें भी टीका लगाया जा रहा है। उन्हें डॉक्टर की देखरेख में लगभग 48 घंटे तक रखा जाए।”

आपको बता दें कि 46 वर्षीय महिपाल सिंह जिला अस्पताल के ही सर्जिकल वार्ड में ड्यूटी करते थे। डॉक्टरों ने महिपाल सिंह के लक्षणों को देखते हुए इसे हार्टअटैक का नाम दिया है।

परिवार का कहना है कि कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने के बाद से ही उन्हें 101 डिग्री बुखार हो गया था और उनकी सांस भी लगातार फूलने लगी थी। महिपाल सिंह के मौत की खबर ने उत्तर प्रदेश प्रशासन में खलबली मचा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − six =