उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आजकल पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनाव प्रचार में व्यस्त चल रहे हैं।

हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बंगाल में रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में अपराध और आतंकवाद का मुद्दा उठाया था।

वहीँ उत्तरप्रदेश में महिलाओं और बच्चियों के साथ अपराध के मामले दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर से बच्ची के साथ गैंगरेप की घटना सामने आई है।

एनडीटीवी के पत्रकार कमल खान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर की है। उन्होंने लिखा है कि इस बच्ची की तकलीफ रुला देने वाली है। गोरखपुर में इस नाबालिग बच्ची से गुंडों ने गैंगरेप किया। एफ़आईआर कराने गई तो पुलिस ने एफ़आईआर नहीं लिखी। बाद में पता चला तो एसएसपी ने एफ़आईआर करवाई। दो पुलिस वालों को सस्पेंड किया।

इस मामले में पत्रकार विनोद कापड़ी ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के गोरखपुर में रामराज्य का सच। ये सब बंगाल से आए #TMC के गुंडे कर रहे हैं, इसलिए मुख्यमंत्री आजकल बंगाल में ज़्यादा व्यस्त हैं।”

बताया जाता है कि रेप पीड़िता घर का खर्च चलाने के लिए एक ऑर्केस्ट्रा में डांस करती है। मंगलवार शाम को जब वह काम से घर लौट रही थी।

तो कुछ बाइक सवार गुंडों ने उसे घेर लिया। उन लोगों ने लड़की का मुंह बंद कर दिया। वे लोग उसको एक घर में ले गए, जहाँ उसके साथ गैंगरेप किया।

पीड़िता ने बताया कि इस दौरान उन दरिंदों से चीख-चीख कर फरियाद करती रही कि उसे छोड़ दें। लेकिन उन्होंने उसकी एक नहीं सुनी।

रेप के बाद जब पीड़ित लड़की ने पुलिस में एफआईआर दर्ज करवानी चाही तो पुलिस ने उसकी सुनवाई नहीं की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

18 + six =