भाजपा शासित उत्तर प्रदेश में योगी सरकार महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने में नाकामयाब साबित हो रही है। हर दिन राज्य में महिलाएं और बच्चियां रेप का शिकार हो रही है।

कल उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में कुछ डकैतों ने हथियारों ने ईंट-भट्ठे में काम करने वाले मजदूरों को बंधक बनाकर लूट को अंजाम दिया। इसके साथ दो किशोरियों के साथ रेप किया और कई किशोरियों के साथ अश्लील हरकतें की।

इस मामले में आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। उन्होंने योगी सरकार द्वारा राज्य में चलाए जा रहे शक्ति मिशन को अपराधियों का मिशन रेप करार दिया है।

आप नेता संजय सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बहुत ही जोरों शोरों से मिशन शक्ति की शुरुआत की थी।

उसके दूसरे दिन ही अखबारों में एक न्यूज़ आई थी। जिसमें महिला कांस्टेबल के साथ बीजेपी के ही नेता ने लखीमपुर खीरी में छेड़खानी की थी। उस महिला कांस्टेबल ने बीजेपी के नेता को गिरफ्तार कर थाने में बंद किया।

जिसके बाद बीजेपी के विधायक उस नेता को छुड़ाने के लिए थाने पहुंच गए और छुड़ा कर भी ले गए।

मैंने उसी दिन यह कहा था कि योगी आदित्यनाथ द्वारा शुरू किया गया मिशन शक्ति का मतलब है कि महिलाओं पर अपनी शक्ति दिखाओ और महिलाओं पर अन्याय के लिए अपनी शक्ति दिखाओ।

योगी आदित्यनाथ राज्य में मिशन शक्ति चला रहे हैं और राज्य के अपराधी उनके खिलाफ रेप चला रहे हैं। जो की बहुत ही शर्म की बात है। कल गोरखपुर में जिस तरह की दरिंदगी और हैवानियत घटी है।

इससे ज्यादा शर्मनाक और कुछ नहीं हो सकता। क्योंकि यह सब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद में हुआ है।

योगी सरकार को मिशन शक्ति के ढोंग को बंद कर देना चाहिए। क्यूंकि ये सरकार इस मिशन के बड़े बड़े बोर्ड लगाकर महिलाओं का मजाक बना रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − seventeen =