उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बीते दिनों कानपुर के एक व्यापारी की उत्तर प्रदेश पुलिसकर्मियों द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

पुलिस द्वारा की गई इस हिंसा का शिकार हुए मनीष गुप्ता को इंसाफ दिलाने के लिए उनका परिवार सरकार और प्रशासन से लड़ाई लड़ रहा है।

मृतक के परिवार द्वारा इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की गई है। जो कि अभी तक शुरू नहीं हो पाई है।

मृतक की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता का कहना है कि वह उनके पति को न्याय मिलने का इंतजार कर रही हैं।

वहीँ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मृतक के परिवार को केडीए में नौकरी, 40 लाख की आर्थिक मदद और सीबीआई जांच शुरू करवाने के का आश्वासन दिया गया है।

इसी बीच सोशल मीडिया पर कानपुर में लगे एक हार्डिंग की तस्वीर काफी वायरल हो रही है। यह हार्डिंग भाजपा नेताओं की है।

इस होर्डिंग में क्षेत्रीय विधानसभा के विधायक सुरेंद्र मैथानी समेत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की हंसते हुए तस्वीर लगाई गई है।

जिसमें लिखा गया है कि स्वर्गीय मनीष गुप्ता के परिवार के 40 लाख की आर्थिक मदद और मीनाक्षी गुप्ता को केडीए में नौकरी देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विधायक सुरेंद्र मैथानी का हार्दिक आभार प्रकट किया जाता है

इस मामले में समाजवादी पार्टी के नेता आई पी सिंह ने ट्वीट कर योगी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने लिखा है कि “कत्ल पर मुख्यमंत्री के करीबी लोग मुख्यमंत्री को बधाई दे रहे है। जैसे मठ के तिजोरी से स्व0 मनीष गुप्ता के परिवार को चंद रुपयों की मदद की हो।

उस बहन के मांग का सिंदूर उजड़ गया, योगीजी की वजह से विधवा हुई। उस मासूम बच्चे के सिर से पिता की साया उठ गई। चुल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए।”

कानपुर में लगी इस होर्डिंग को विपक्षी नेताओं के साथ सोशल मीडिया यूज़र्स भी भाजपा की इस हरकत को शर्मनाक बता रहे है। विधानसभा चुनाव से पहले मृतक के नाम पर राजनीति की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen − 10 =