सीएम योगी ने एक चुनावी जनसभा में कहा कि साल 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान अजित सिंह ‘‘दंगाइयों’’ के साथ खड़े थे। वे दंगे में मारे गए दो युवकों के परिजन से क्‍यों नहीं मिले। मनमोहन सिंह जब देश के प्रधानमंत्री थे, तब अजित सिंह भी केंद्रीय मंत्री हुआ करते थे, तो उस वक्‍त उन्‍होंने अल्‍पसंख्‍यकों के लिए क्‍या किया।

योगी यही रुके उन्होंने चौधरी चरण सिंह को महान किसान नेता बताते हुए कहा कि चरण सिंह की वजह से उन्हें किसान के लिए काम करने की प्रेरणा मिली, पर उनके पुत्र और पोते में किसान का कोई गुण नहीं है।

पूर्व सेना अध्यक्ष ने योगी को बताया ‘देशद्रोही’, कहा- भारतीय सेना ‘मोदी की सेना’ नहीं है

योगी ने अजित सिंह पर तंज करते हुए कहा कि उन्हें तो ये भी नहीं पता कि गन्ना पेड़ पर लगता है या खेत में। योगी ने आगे कहा कि अजित सिंह एक बार पूछ रहे थे कि गन्ना आम के पेड़ पर लगता है या यूकेलिप्टस के पेड़ पर।

अब योगी के इस बयान पर पलटवार करते हुए अजित सिंह के बेटे जयंत चौधरी ने कहा कि योगी एक महंत है जिनको दंगा भड़काने के लिए भेजा गया है। लेकिन, जब दंगा नहीं करवा पाए तो अब ये ऐसी बात करने लगे है।

सबसे झूठा PM है मोदी, अगर ये श्रीलंका जाता तो कहता ‘रावण’ को मैने ही मारा है : अजीत सिंह

बता दें कि जयंत और उनके पिता अजित सिंह दोनों ही इस बार चुनाव लड़ रहें है। दोनों की सीट पर चुनाव पहले चरण में होना है जयंत बागपत से तो अजित सिंह मुजफ्फरनगर की  लोकसभा सीट से इस बार चुनाव भी लड़ रहें है जहां पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 5 =