kafeel khan
Kafeel Khan
राजन राज

उत्तर प्रदेश में एक तरफ जहां डॉ कफील खान को लगातार किसी ना किसी केस में फंसा कर जेल में डाल दिया जा रहा है वहीं योगी आदित्यनाथ ने BRD मेडिकल कॉलेज में हुई मासूम बच्चों की मौंत के मामले में प्रथम दृष्टया दोषी पाए जाने वाले डॉ राजीव कुमार मिश्रा का निलंबन समाप्त करते हुए बहाली का आदेश दे दिया।

आपको बता दे कि तीन साल पहले अगस्त माह में बाबा राघव दास (बीआरडी) मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में हुई बच्चों की मौत के मामले में निलंबित कर दिया गया था।

योगी सरकार के ताजा आदेश के अनुसार, पूर्व प्राचार्य डॉक्टर राजीव मिश्रा व पूर्व विभागाध्यक्ष एनेस्थीसिया डॉक्टर सतीश कुमार को इनके अलावा डॉक्टर पूर्णिमा शुक्ला को भी बहाल किया गया है, लेकिन वे रिटायर हो चुकी हैं। प्राचार्य डॉक्टर गणेश ने डॉक्टर राजीव को पैथोलॉजी व डॉक्टर सतीश को एनेस्थीसिया विभाग में ज्वॉइन कराया।

बच्चों को बचाने वाले ‘डॉ कफील’ को जेल और छात्राओं के सामने हस्तमैथुन करने वालों को बेल, ये कैसा न्याय है?

यूपी एसटीएफ ने एएमयू में भड़काऊ भाषण के आरोप में डॉ. कफील को मुंबई हवाईअड्डे से 29 जनवरी को गिरफ्तार किया था। पुलिस की ओर से दर्ज मुकदमे में कहा गया कि एएमयू में अपने भाषण में डॉ. कफील ने कथित तौर पर कहा था कि ‘मोटा भाई’ सबको हिंदू व मुसलमान बनने की सीख दे रहे हैं, इंसान बनने की नहीं।

कफील ने यह भी कहा था कि सीएए के खिलाफ संघर्ष हमारे अस्तित्व की लड़ाई है। 12 दिसंबर को कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के सिलसिले में डॉ. कफील के खिलाफ अलीगढ़ के सिविल लाइंस थाने में मामला दर्ज किया गया था।

कफील के जान को खतरा!

डॉ. कफील खान की पत्नी डॉ. शाबिस्ता खान ने अपने पति की जान को जेल में खतरा होने की आशंका जताई है। शाबिस्ता ने डॉ. कफील को सुरक्षा दिए जाने की भी मांग की है। डॉ. कफील राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत 13 फरवरी से मथुरा जेल में बंद हैं।

योगी सरकार के इस आदेश के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने योगी सरकार के खिलाफ काफी कड़ी प्रतिक्रिया जारी कर रहे हैं। फेसबुक पर एक यूजर राम लखन यादव ने लिखा है कि योगी आदित्यनाथ ने BRD मेडिकल कॉलेज में हुई मासूम बच्चों की मौंत के मामले में प्रथम दृष्टया दोषी पाए जाने वाले #डॉ_रजीव_कुमार_मिश्रा का निलंबन समाप्त करते हुए बहाली का आदेश दे दिया। और वही दूसरी तरफ न्यायालय द्वारा #निर्दोष दिए गए डॉ #कफील_खान को योगी जी लगातार अपनी मुस्लिम विरोधी राजनीति का शिकार बनाए हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

16 − 15 =