एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश में किसानों ने योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वहीँ कोरोना महामारी के दौरान योगी सरकार के कुप्रबंधन से राज्य की जनता भी आक्रोश में है।

इस बीच खबर सामने आई है कि भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार प्रसार के लिए पानी की तरह पैसा बहाने में लग गई है।

दरअसल आजमगढ़ के राज्य विश्वविद्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने के लिए पहुंचे थे।

खबर के मुताबिक, इस शिलान्यास कार्यक्रम में भीड़ को जुटाने के लिए पीडब्ल्यूडी को 40 लाख रुपए का इंतजाम करने के लिए कहा गया है।

इस संदर्भ में आजमगढ़ के जिलाधिकारी ने मुख्य अभियंता को एक पत्र लिखकर इस राशि को जुटाने के लिए कहा।

इस मामले में देश के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने आजमगढ़ के जिला अधिकारी को तुरंत बर्खास्त करने की मांग की है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “सरकारी पैसा पार्टी की रैली में भीड़ जुटाने के लिए किया जा रहा है! इस डीएम को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए। किसी दिन इन अधिकारियों की जवाबदेही जरूर तय होगी ।

वहीँ पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों का कहना है कि इस तरह की कोई भी निर्माण इससे पहले कभी भी किसी जिले में नहीं की गई है। उच्चाधिकारियों से निर्देश आने के बाद आकस्मिक निधि से इस राशि को दे दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के अलावा भाजपा शासित मध्यप्रदेश में भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम पर भी शिवराज सिंह की सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं।

पीएम मोदी के इस कार्यक्रम में जनता को लाने और ले जाने के लिए ही लगभग 12 करोड़ लगाए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 − four =