उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। जिसके चलते सभी राजनीतिक दलों की सियासी गतिविधियां तेज हो चुकी हैं।

यूपी विधानसभा चुनावों से पहले योगी सरकार ने एक कानून पर काम करना शुरू कर दिया है। जिसके तहत अगर किसी परिवार में 2 से ज्यादा बच्चे होंगे। तो उन्हें सरकारी सुविधाओं सहित अन्य लाभों से वंचित रखा जाएगा।

इसके चलते ही योगी सरकार एक बार फिर से विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है।

दरअसल जब भी उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होते हैं। तो भाजपा अक्सर हिंदुत्व के मुद्दे पर लोगों को अपने पाले में लेने की कोशिश करती है।

साल 2017 में भाजपा के पास अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा था। लेकिन इस बार श्री राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट में हुए घोटाले के चलते भाजपा इस मुद्दे पर राजनीति नहीं भुना सकती।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने भाजपा पर चुटकी ली है।

इस संदर्भ में उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “बंगाल में हिन्दू फिलहाल खतरे से बाहर! राजनीतिक मौसम विभाग का अलर्ट! यूपी में फरवरी 2022 तक हिन्दू पर भीषण खतरे का बादल बहुत तेजी से मंडराता रहेगा।”

इससे पहले कल ही योगी सरकार द्वारा बनाए जा रहे नए कानून पर चुटकी लेते हुए रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने भी भाजपा की चुटकी ली थी।

उन्होंने कहा था कि कोई भी सवाल हो भाजपा के पास उसका सिर्फ एक ही जवाब होता है कि हिंदू खतरे में है।

आपको बता दें कि साल 2017 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की तरफ से योगी आदित्यनाथ को स्टार प्रचारक बनाया गया था।

इस दौरान उन्होंने कई विवादित बयान दिए थे। योगी आदित्यनाथ ने उस वक्त राज्य में हिंदू मुसलमानों के नाम पर जमकर राजनीति की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

eighteen − twelve =