मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में एक दलित पंचायत अधिकारी की दिन दहाड़े हत्या कर दी गई है।

मृतक अनीश के परिजनों का आरोप है कि उसके ससुराल वालों ने ही इस हत्या को अंजाम दिया है। अनीश का विवाह दीप्ति मिश्र से हुआ था, जो कि ब्राह्मण समाज से आती हैं।

‘बीबीसी हिंदी’ की रिपोर्ट के अनुसार अनीश और दीप्ती का विवाह वर्ष 2019 में हो गया था। परंतु दीप्ती के परिवार वालों को उनके रिश्ते से शुरुआत से ही आपत्ति थी।

दीप्ती, जो कि गर्भवती हैं, उनके पिता तो कईं बार अनीश के खिलाफ पुलिस में भी शिकायत दर्ज करवा चुके हैं। यही वजह है कि 24 जुलाई को हुई अनीश की हत्या के लिए दीप्ती के परिवार पर सवाल उठाए जा रहे हैं।

दीप्ती की माँ जानकी मिश्र ने अपने परिवार वालों पर लगाए जा रहे आरोपों को निराधार बताते हुए एक अजीबो-गरीब बयान भी दे दिया है।

उन्होनें कहा, ”ऐसी लड़कियों को पढ़ाना-लिखाना तो दूर जन्म देना भी बेकार है। उसने मेरी कोख पर कालिख पोत दिया है। पूरे परिवार और रिश्तेदारों को बदनाम और बर्बाद कर दिया है।” अपनी बेटी के पति की हत्या होने के बावजूद जानकी अपनी बेटी को ही कोस रही हैं।

इस बयान में जातिवाद और मर्दवाद साफ़ तौर पर झलकता है। यह केवल समाज की बुराई नहीं, बल्कि असंवेधानिक भी है। अनीश और दीप्ती के विवाह से जानकी की घृणा का कारण जातिवाद ही है।

स्वयं दीप्ती बताती हैं कि उनके परिवार वाले पहले भी अनीश को मार देने की धमकी दे चुके हैं। दीप्ती कहती हैं कि उनका पूरा परिवार इस मामले में किसी न किसी रूप में शामिल है।

उनकी मांग है कि सबको फांसी होनी चाहिए। इसके लिए वो हर स्तर पर इस लड़ाई लड़ेंगी।

दरअसल, 24 जुलाई को अनीश अपने चाचा और उरुवा ब्लॉक में ही तैनात ग्राम विकास अधिकारी देवी दयाल के साथ किसी काम के लिए निकले थे। वह दोनों गोपालपुर बाज़ार में स्थित एक दूकान पर कुछ सामान लेने गए थे।

दूकान से निकलने के बाद अनीश और दयाल पर धारदार हथियारों से हमला हुआ। दयाल घायल हैं, और अनीश अब इस दुनिया में नहीं रहे।

अनीश और दीप्ति एक साथ पंडित दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय, गोरखपुर में पढ़ते थे। इसके बाद उन दोनों का चयन ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर हो गया था।

भरे बाज़ार में अनीश की हत्या दो बड़े सवाल उठाती है- पहला तो सरकार की कानून लाचार व्यवस्था से, दूसरा समाज के घटिया नियमों से। फिलहाल हत्या करने वाले का नाम सामने आना बाकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 − four =