लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी के खिलाफ उत्तर प्रदेश की दो सबसे बड़ी पार्टियाँ सपा-बसपा एक साथ हैं। इस गठबंधन में आरएलडी का भी साथ मिला हुआ है। ये गठबंधन अब दूसरे चरण के मतदान वाले क्षेत्रों पर निगाह डाली हुई है। आज यूपी के बदायूं में गठबंधन की बड़ी रैली है।

यहाँ रैली में अखिलेश यादव ने भाजपा और उसकी सरकारों पर जोरदार हमला करते हुए कहा कि, “ये गरीबों का गठबंधन है, गांव में रहने वाले लोगों का गठबंधन है। आजादी के बाद जिनको सम्मान नहीं मिल पाया सपा-बसपा-आरएलडी उन गरीबों का गठबंधन है।”

पहले चरण में मोदी लहर के जगह ‘कहर’ देखकर भाजपाई खेमों में सन्नाटा पसर गया है : अखिलेश

ये दिलों का गठबंधन भी बनकर तैयार हुआ है। अखिलेश ने कहा कि पहले चरण में जितनी बंपर वोट डाले गए हैं उसने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की आँखें खोल दी हैं। पहले चरण के मतदान से तय हो गया है कि मोदी सरकार की वापसी नहीं होगी।

प्रधानमंत्री मोदी के गठबंधन को महामिलावट बताते वाले बयान पर अखिलेश ने कहा, “ये देश की राजनीति को बदलने वाला महापरिवर्तन गठबंधन है। ये परिवर्तन गली से होकर संसद तक पहुंचेगा।”

बीजेपी और पीएम मोदी जो बोल रहे हैं नया देश बनाना है। नया देश तभी बनेगा जब देश का नया प्रधानमंत्री बनेगा। ये महागठबंधन देश को नया प्रधानमंत्री देने जा रहा है। हम पांच साल से अच्छे दिनों का इंतेज़ार कर रहे हैं! पांच साल से अच्छे दिन नहीं आए। अखिलेश ने बीजेपी सरकार पर ‘खाद’ की बोरी में चोरी करने की बात कही।

बता दें कि सहारनपुर के देवबंद में पहली संयुक्त रैली करने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और आरएलडी प्रमुख चौधरी अजीत सिंह बदायूं में रैली कर रहे हैं।

ये यूपी में गठबंधन की तरफ से दूसरी संयुक्त रैली है। बदायूं से समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेन्द्र यादव गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर मजबूती के साथ मैदान में हैं। धर्मेन्द्र यादव संसद में पिछड़ों की आवाज बुलंद करने के तौर पर जाने जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × 3 =