गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में घटी घटना के बाद किसान आंदोलन कुछ कमजोर होता नजर आया था। लेकिन भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत की अगुवाई में एक बार फिर किसान आंदोलन को मजबूती मिल चुकी है।

इसे और भी मजबूत बनाने के लिए उत्तर प्रदेश में किसान महापंचायतों का आयोजन किया जा रहा है।

इसी बीच खबर सामने आ रही है कि मुजफ्फरनगर के सोरम में आयोजित एक किसान महापंचायत में भारतीय जनता पार्टी के नेता और किसान आमने-सामने आ गए।

इस दौरान पहले भाजपा नेता और किसानों के बीच नोक-झोंक हुई थी। जिसके बाद बात मारपीट तक पहुंच गई। भाजपा नेताओं ने किसानों के साथ मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया है।

इस मामले में राष्ट्रीय दल के उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने ट्वीट कर कुछ तस्वीरों को शेयर किया है। जिसमें देखा जा सकता है कि इस संघर्ष में किसान घायल हुए हैं।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “सोरम गाँव में बीजेपी नेताओं और किसानों के बीच संघर्ष, कई लोग घायल! किसान के पक्ष में बात नहीं होती तो कम से कम, व्यवहार तो अच्छा रखो।

किसान की इज़्ज़त तो करो! इब कानूनों के फायदे बताने जा रहे सरकार के नुमाइंदों की गुंडागर्दी बर्दाश्त करेंगे गाँववाले?”

बताया जाता है कि जब सोरम में किसानों और भाजपा नेताओं के बीच मारपीट हुई तो वहां पर केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान भी मौजूद थे।

इससे पहले शामली में भी गांव वालों की तरफ से केंद्रीय मंत्री डॉ संजीव बालियान और भाजपा नेताओं के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई थी। इसके भाजपा नेताओं को उलटे पाँव वापिस जाना पड़ा।

गांव वालों ने यहां तक कह दिया था कि अगर भाजपा नेताओं को इस गांव में आना है तो वह अपने पदों से इस्तीफा देकर आए। वरना हमने इस गांव में एंटर नहीं होने दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three × 4 =