उत्तर प्रदेश के वाराणसी से एक दिल को दहला वाला मामला सामने आया है। यहां जेपी मेहता इंटर कॉलेज के अंदर से नर कंकाल बरामद हुआ है। जिससे इलाके में सनसनी फैल गई है।

बताया जा रहा है कि ये नर कंकाल तब बरामद हुआ जब क्लासरूम की सफाई की जा रही थी। पुलिस के साथ मौके पर पहुंची फॉरेंसिक टीम ने कंकाल को कब्ज़े में लेकर जांच शुरु कर दी है।

दरअसल, कोरोना महामारी के दौरान यूपी समेत देशभर में स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए थे। इस दौरान कई स्कूलों और कॉलेजों को शेल्टर होम भी बनाया गया था।

जेपी मेहता इंटर कॉलेज का भी इस्तेमाल लॉकडाउन के दौरान शेल्टर होम के रुप में किया गया था। गरीब, बेघर और मानसिक रूप से कमज़ोर लोगों को यहां रखा गया था।

अब सवाल है कि क्या मरने वाला उन्हीं लोगों में से एक था? या हत्या के बाद किसी ने लाश को यहां फेंक दिया। मामले को लेकर सवाल कई हैं, जिनके जवाब जांच के बाद ही मिल सकते हैं।

प्रदेश की पूर्व सत्तारूढ़ पार्टी समाजवादी पार्टी ने बड़ी वारदात का शक जताते हुए मामले की फॉरेंसिक जांच किए जाने की मांग की है।

समाजवादी पार्टी के आधिकारिक फेसबुक अकाउंट से लिखा गया, “वाराणसी में महीनों बाद खुले स्कूल के बाद क्लास रूम में कंकाल मिलने की घटना स्तब्ध करती हैं !

कोरोना काल में बने सेल्टर होम में कंकाल मिलना किसी बड़ी वारदात और अत्याचार की ओर इशारा करता है। मामले की जांच करा तह तक जाए पुलिस।फोरेंसिक की मदद से दोषियों को सजा दिला हो न्याय”।

प्रभारी निरीक्षक कैंट ने बताया कि प्रथम दृष्टया यही प्रतीत हो रहा है कि लॉकडाउन के दौरान स्कूल में बने आश्रय स्थल में से किसी का यह शव है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत की वजह स्पष्ट हो जाएगी। जरूरत पड़ेगी तो डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा।

वहीं इस मामले में पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेई ने लिखा- “कोरोना में आदमी कंकाल हो गया…
ना अनाज पहुँचा ना सरकार….
ये बनारस है….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nineteen − 17 =