भाजपा शासित उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा में चार किसानों की मौत हुई है। जिसमें से दो किसान बहराइच के हैं।

इस हिंसा में मारे गए किसान लवप्रीत के परिवार से कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और राहुल गांधी समेत कई कांग्रेस नेताओं ने मुलाकात की है।

कांग्रेस ने कहा है कि वह किसानों के न्याय की लड़ाई में हर तरह से उनके साथ हैं।

वहीँ सोशल मीडिया पर उत्तर प्रदेश पुलिस और पीड़ित किसान परिवारों के बीच हो रही एक बातचीत की बीजेपी वायरल हो रही है।

जिसमें लोगों ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को लेकर ऐसी बात कह दी है। जो भाजपा सरकार के लिए मुसीबत का सबब बन सकती है।

पुलिस से बातचीत के दौरान पीड़ित किसान परिवारों ने कहा कि अगर आज अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री होते तो हमें न्याय जरूर मिलता। वह हमें न्याय दिलाने के लिए खुद यहां पर खड़े होते।

हमें उन पर इतना विश्वास है। हम भले ही पंजाब से आते हैं। लेकिन हमने अखिलेश यादव के बारे में बहुत कुछ सुना है।

उन्होंने मुसलमानों को समर्थन दिया और हर वर्ग के लोगों को समर्थन दिया है। भाजपा सरकार किसानों को खालिस्तानी बोल रही है। किसान आंदोलन के दौरान किसानों को क्या-क्या बोला जाता है।

बताया जा रहा है कि आज ही समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लखीमपुर खीरी का दौरा करने वाले हैं। जहां वह पीड़ित किसान परिवारों से मुलाकात करेंगे।

गौरतलब है कि लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के अगले दिन ही अखिलेश यादव पीड़ित किसानों से मिलने जाने वाले थे।

लेकिन उन्हें योगी सरकार द्वारा उनके आवास पर नजरबंद कर दिया गया।

बता दें, अखिलेश यादव समेत कई विपक्षी नेता किसान परिवारों को न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ रहे हैं। भाजपा नेता अजय मिश्रा की बेटे और आरोपी आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की मांग की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty − five =