उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के शासनकाल के दौरान प्रशासन और पुलिस अक्सर विवादों में बने रहते हैं। जिसकी वजह से भाजपा सरकार सवालों के कटघरे में खड़ी रहती है।

इसी बीच उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के थाना जगदीशपुरा में मालखाने से 25 लाख रुपए की चोरी का मामला सामने आया है।

चोरी के आरोप में पुलिस द्वारा जिस युवक को हिरासत में लिया गया था। उसकी मंगलवार रात मौत हो गई है।

बताया जाता है कि पुलिस द्वारा युवक से पूछताछ कर चोरी की गई रकम के बारे में पता लगाए जाने की कोशिश की जा रही थी। इस दौरान अचानक युवक की तबीयत खराब हो गई।

पुलिस द्वारा अस्पताल जाने तक उसे डॉक्टरों द्वारा मृत घोषित कर दिया गया।

इस घटना के बाद एक बार फिर उत्तर प्रदेश पुलिस विवादों में आ गई है। बताया जाता है कि पुलिस की पूछताछ में मारा गया युवक पेशे से सफाईकर्मी था। जिसका नाम अरुण था।

इस मामले में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने उत्तर प्रदेश पुलिस पर कस्टडी के दौरान सफाई कर्मचारी के साथ मारपीट किए जाने के आरोप लगाए।

उनका कहना है कि पुलिस द्वारा सफाई कर्मचारी के साथ हुई मारपीट की वजह से ही उसकी मौत हुई है।

भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने इस मामले में योगी सरकार को घेरते हुए ट्वीट किया है।

उन्होंने लिखा है कि “रक्षक बने भक्षक! आगरा के एक थाने में पुलिसकर्मियों ने पहले 25 लाख की चोरी कराई और फिर सच छिपाने के लिए एक सफाईकर्मी को कस्टडी में पीट पीटकर मार डाला।

योगी जी, अपराधी थानों में ही तैनात हैं। जनता अब पुलिस से ही डरने लगी है। न्याय नहीं दे सकतें तो कम से कम हमारी हत्या न कराएं।

बताया जा रहा है कि मृतक के परिवार द्वारा पुलिस प्रशासन से 2 करोड़ रुपए और नौकरी की मांग की गई है।

वहीं पुलिस थाने में बवाल की आशंका के मद्देनजर भारी मात्रा में फोर्स तैनात कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × two =