उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव जैसे-जैसे खत्म होने की कगार पर पहुंच रहा है वैसे वैसे अनेकों राजनैतिक रंग देखने को मिल रहे हैं।

जिस बेटे के लिए प्रयागराज ( इलाहाबाद) की भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी राजनीति छोड़ने के लिए तैयार हो गईं। वह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मिलने पहुंच गए हैं।

दरअसल रीता बहुगुणा जोशी अपने बेटे मयंक जोशी के लिए लखनऊ कैंट से भाजपा से टिकट मांग रही थी लेकिन भाजपा ने टिकट देने से इंकार कर दिया।

लखनऊ कैंट से ब्रजेश पाठक को उम्मीदवार बना दिया। इससे पहले ब्रजेश पाठक लखनऊ की मध्य विधानसभा से जीतकर आए थे।

रीता बहुगुणा जोशी अपने बेटे मयंक जोशी के लिए सांसद पद से इस्तीफा तक देने को तैयार हो गईं थी।

मयंक जोशी भाजपा के युवा नेता हैं। लखनऊ कैंट में काफी सक्रिय भी हैं।

यूपी में कल चौथे चरण का चुनाव है कल ही लखनऊ कैंट पर भी वोट डाले जाएंगे। ऐसे में भाजपा के लिए यह काफी बड़ा झटका बताया जा रहा है।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोशल मीडिया पर मयंक जोशी से शिष्टाचार मुलाकात बताते हुए तस्वीर शेयर की है।

अब ये मुलाकात सिर्फ शिष्टाचार है या कितनी राजनैतिक ये तो आने वाले समय में ही पता चलेगा।

आपको बता दें कि, राजनैतिक जानकार इस मुलाकात के कई मायने निकाल रहे हैं इतना ही नहीं इसके काफी नफे-नुकसान पर भी चर्चाएँ हो रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 4 =