बलिया गोलीकांड मामले में गोली मारकर फरार चल रहे बीजेपी नेता धीरेंद्र सिंह के बचाव में खुद घोर जातिवादी भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह आ गए हैं।

बलिया के बैरिया से बयानवीर भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने गोलीकांड के आरोपी धीरेंद्र सिंह के बारे में कहा कि, “आरोपी क्षत्रिय है इसीलिए उसके साथ खड़ा हूँ।”

वह मेरा और पार्टी का सहयोगी है। लोकसभा और विधानसभा चुनाव में उसने बहुत सहयोग किया है।

अब ज़रा कल्पना कीजिए कि, एक हत्यारे के पक्ष में यही कोई दूसरी जाति का विधायक या विपक्ष का कोई नेता बयान देता तो बीजेपी क्या करती? मीडिया क्या करती?

लेकिन भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह यही नहीं रुका उन्होंने कहा, “सुरेंद्र सिंह को क्षत्रिय प्रिय है।

मेरी सरकार है मैं सभी अधिकारियों को बोल देता हूँ एक सप्ताह के भीतर एफआईआर नहीं किया गया तो मैं रेवती थाने पर हजारों लोगों को लेकर बैठूंगा।”

बलिया के विधायक सुरेन्द्र सिंह गोलीकांड के आरोपी का खुलकर साथ दे रहे हैं, योगी आदित्यनाथ सरकार उनपर न तो एफआईआर कर रही है न तो उनका घर-प्रॉपर्टी ढहा रही है।

योगी सरकार की बलिया गोली कांड पर एक तरह से मौन सहमति है। विधायक अधिकारियों को चेतावनी दे रहे हैं कि अगर उनके पक्ष का मुकदमा नहीं लिखा गया तो हजारों लोग लाकर थाने का घेराव करा देंगे। हालांकि पुलिस ने फ़रार आरोपी धीरेंद्र पर 50 हज़ार का इनाम घोषित किया है।

भाजपा के इस मनबढ़ विवादास्पद बयानवीर बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने एक न्यूज़ चैनल से बातचीत करते हुए यहां तक कह दिया कि, “क्रिया की प्रतिक्रिया होती है।”

बावजूद इसके ये विधायक सुरेंद्र सिंह पर भी अभी तक एफआईआर नहीं हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 + 17 =