उत्तर प्रदेश में बढ़ रही महिला अपराध की घटनाओं को देखते हुए योगी सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करने वाले अपराधियों पर सख्त एक्शन लेते हुए ”ऑपरेशन दुराचारी” की शुरुआत की है।

योगी सरकार द्वारा शुरू किए गए इस ऑपरेशन के तहत महिलाओं के साथ छेड़खानी और दुष्कर्म करने वाले अपराधियों को महिला पुलिस कर्मियों द्वारा ही दंड दिलवाया जाएगा।

देर से ही सही लेकिन योगी सरकार ने राज्य में महिलाओं और बच्चियों के साथ बढ़ रही दुष्कर्म की घटनाओं पर बड़ा ऐलान किया है।

इसके साथ योगी सरकार ने यह भी कहा है कि महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले लोगों के पोस्टर चौराहों पर लगाए जाएंगे। ताकि समाज में रहने वाले अन्य दुराचारियों को सबक मिले।

गौरतलब है कि भारतीय जनता पार्टी में कई ऐसे नेता शुमार हैं। जो रेप के आरोपी हैं। क्या योगी सरकार उन बीजेपी नेताओं के पोस्टर भी चौराहों पर लगाएगी ? इस मामले में भारत समाचार के पत्रकार प्रशांत शुक्ला ने योगी सरकार से सवाल किया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि “यूपी के एटा में बीजेपी नेता पर कई महीनों तक बंधक बनाकर महिला से रेप का आरोप लगा है। पुलिस ने मामला भी दर्ज किया।अपहरण,लूट का मामला भी दर्ज हुआ है।आरोपी बीजेपी नेता नरेंद्र उपाध्याय उपभोक्ता भंडार एटा का अध्यक्ष है। इनके पोस्टर लगेंगे क्या ?”

आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी से विधायक कुलदीप सेंगर पर युवती से रेप के आरोप लगे थे।

इसके अलावा भाजपा से जुड़े स्वामी चिन्मयानंद पर एक छात्रा ने रेप के आरोप लगाए थे। क्या योगी सरकार अपने ही पार्टी के नेताओं पर भी समान कार्रवाई करेगी ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + sixteen =