देशभर में इस वक्त किसानों का मुद्दा गर्माया हुआ है। मोदी सरकार के कृषि कानून के खिलाफ देशभर के किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी कड़ी में कल कुछ राज्यों में किसानों द्वारा बंद का आयोजन भी किया गया था।

इसी बीच खबर सामने आ रही है कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पराली जलाने के आरोप में किसानों के खिलाफ मामले दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया है।

इस मामले में कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। विपक्षी दलों का कहना है कि एक बार फिर से भाजपा ने साबित कर दिया है कि वह किसान विरोधी सरकार है।

पहले किसानों के खिलाफ कृषि कानून लाकर उन्हें बर्बाद किया जा रहा है। अब उन्हें जेल में भी डाला जायेगा।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पराली जलाने के मामले में कई एफआईआर दर्ज की जा चुकी है और इस आरोप में 5 किसानों को जेल में भेजा गया है।

किसानों को जेल भेजे जाने पर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया है।

उन्होंने लिखा है कि “पर्यावरण प्रदूषण के बहाने पराली जलाने के नाम पर किसानों को जेलों में डालनेवाले महानुभाव बताएं कि राजनीतिक प्रदूषण फैलाने वालों को जेल कब होगी। किसान अब भाजपा का खेत खोद देंगे।”

गौरतलब है कि ऐसा पहली बार हुआ है कि किसानों को पराली जलाने के मामले में जेल भेजा गया हो। मैनपुरी के किशनी में एसडीएम रामसकल मौर्य के आदेश पर पुलिस ने किसानों के साथ बदसलूकी की।

पुलिस किसानों को कॉलर से खींचते हुए गिरफ्तार कर ले गई। बीते एक हफ्ते से सिर्फ सहारनपुर से ही 16 किसानों को गिरफ्तार किया गया है। किसान डर के कारण घर छोड़ने पर मजबूर हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 − 8 =