उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में बीते दिनों कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता की पुलिस कर्मियों द्वारा मारपीट कर हत्या का मामला भाजपा के लिए मुसीबत का सबब बनता नजर आ रहा है।

आने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में घट रही ऐसी घटनाएं योगी सरकार को सवालों के कटघरे में खड़ा कर रही हैं।

मनीष हत्याकांड में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव योगी सरकार पर हमलावर हो रहे हैं।

दरअसल कल अखिलेश यादव मनीष गुप्ता के परिवार से मुलाकात करने कानपुर पहुंचे थे।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मनीष गुप्ता की मौत के आरोपियों की गिरफ्तारी न होने के पीछे बड़ा कारण बताया है। उनका कहना है कि आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी के पीछे वसूली तंत्र जुड़े होने की पूरी आशंका है।

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि आरोपी पुलिस वालों के घर पर बुलडोजर चला है क्या?

एसएसपी भाजपा के रिश्तेदार हैं। इसलिए उन पर कार्रवाई नहीं की जा रही है।

मनीष गुप्ता हत्याकांड में पुलिस वालों की गिरफ्तारी ना होना यह दर्शाता है कि वह फरार नहीं हुए। बल्कि उन्हें फरार करवाया गया है।

दरअसल कोई आरोपियों को नहीं, खुद को बचाने की कोशिश कर रहा है। भाजपा के लिए ज़ीरो टॉलरेंस एक जुमला है।

समाजवादी पार्टी के अलावा अन्य विपक्षी दलों द्वारा भी यह सवाल उठाए जा रहे हैं कि आखिर इस घटना के करीब 4 दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी क्यों नहीं हो पाई है?

आपको बता दें कि अखिलेश यादव ने इस घटना की गंभीरता को देखते हुए सीबीआई जांच किए जाने की बात भी कही है।

दरअसल मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी गुप्ता ने एक वीडियो संदेश के जरिए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से न्याय की गुहार लगाते हुए उनकी मदद करने की अपील की थी।

अब अखिलेश यादव ने मृतक के परिवार से मुलाकात करने के बाद आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + 3 =