उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से कुछ ही महीने पहले एक बड़ा और अप्रत्याशित बदलाव देखने को मिल रहा है।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने अब समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर आगामी चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है। साथ ही ‘भाजपा को साफ करने’ का आह्वान किया है।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की मुलाकात के साथ ही गठबंधन की अटकलें लगने लगी थीं मगर इसपर मुहर लगी-खुद ओमप्रकाश राजभर के ट्वीट के बाद।

उन्होंने मुलाकात की तस्वीर शेयर करते हुए ट्विटर पर लिखा – “अबकी बार, भाजपा साफ़!

समाजवादी पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी मिलकर आए साथ। दलितों, पिछड़ों अल्पसंख्यकों के साथ सभी वर्गों को धोखा देने वाली भाजपा सरकार के दिन हैं बचे चार।

मा. पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के सुप्रीमो आदरणीय श्री अखिलेश यादव जी से शिष्टाचार मुलाकात की।”

 

इसके साथ ही सपा से सुभासपा के गठबंधन की इस बात को पुष्ट करते हुए खुद समाजवादी पार्टी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा-

“वंचितों, शोषितों, पिछड़ों, दलितों, महिलाओं, किसानों, नौजवानों, हर कमजोर वर्ग की लड़ाई समाजवादी पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी मिलकर लड़ेंगे।

सपा और सुभासपा आए साथ,
यूपी में भाजपा साफ!”

 

इस तरह से दोतरफा घोषणा के साथ ही तमाम उन अटकलों को विराम लग गया कि ओमप्रकाश राजभर भाजपा के साथ जाने वाले हैं।

दरअसल पिछले कुछ दिनों से मीडिया में लगातार खबरें आ रही थी कि सुभासपा का अब भाजपा से गठबंधन होगा।

माना जाता है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश की दर्जनों सीटों पर राजभर समाज के वोटरों का रुझान नतीजे तय करता है और ऐसे में उनके सबसे लोकप्रिय नेता बन चुके ओमप्रकाश राजभर को साथ ले आना अखिलेश यादव की रणनीतिक विजय कही जा सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + fourteen =