Samar Raj

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के परिसर में दिनदहाड़े एक वकील की गोली मारकर हत्या कर दी गई है।

ये मामला राज्य में कानून व्यवस्था की लचर हालात का सबूत है। इसी पर विपक्षी नेताओं ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए गंभीर सवाल उठाए हैं।

लोक सभा सांसद और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, “शाहजहाँपुर में कोर्ट में ही एक वकील की सरेआम हत्या ने ‘एनकाउंटर सरकार’ के झूठे प्रचार का सच जनता के सामने लाकर रख दिया है।

भाजपा सरकार में उप्र ‘ईज़ ऑफ़ डूइंग क्राइम’ में ‘नंबर वन’ हो गया है।”

यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा अध्यक्ष मायावती ने भी राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए कहा,

“यूपी के जिला शाहजहाँपुर के कोर्ट परिसर में वकील की आज दिन दहाड़े हुई हत्या अति-दुखद व शर्मनाक जो यहाँ की भाजपा सरकार में कानून-व्यवस्था की स्थिति व इस सम्बंध में सरकारी दावों की पोल खोलती है।

अब अन्ततः यही सवाल उठता है कि यूपी में आखिर सुरक्षित कौन? सरकार इस ओर समुचित ध्यान दे।”

दरअसल, शाहजहांपुर कोर्ट में वकील भूपेंद्र सिंह की हत्या कर दी गई उसका शव कोर्ट की तीसरी मंजिल पर मिला। इसके साथ ही शव के पास एक देसी पिस्टल भी मिली है।

हाल ही में ऐसी कई घटनाएं घटी हैं जो यूपी की ख़राब कानून व्यवस्था की सच्चाई बताती हैं। पंचायत चुनावों में भी सत्तारूढ़ पार्टी पर बल से अध्यक्ष बनाने के आरोप लगे थे।

अभी लखीमपुर खीरी में राज्यमंत्री के बेटे आशीष मिश्रा ने किसानों को गाड़ी से कुचलकर मार डाला। और अब इस तरह कोर्ट परिसर में ही वकील की हत्या कर दी गई।

साफ़ है कि प्रदेश में अपराधियों को पुलिस प्रशासन का कोई डर नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + ten =