उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले भारतीय जनता पार्टी की सरकार का प्रचार प्रसार जोरों शोरों से चल रहा है।

इसी बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की महत्वकांक्षी योजना पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन की जाने की तैयारियां जोरों शोरों से की जा रही है।

लेकिन उद्घाटन से पहले ही योगी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की गुणवत्ता की पोल खुल गई है।

दरअसल उत्तर प्रदेश में हुई बारिश के बाद इस एक्सप्रेस वे में 50 मीटर लंबी दरार नजर आई। कई जगहों पर बारिश के चलते एक्सप्रेस वे बुरी तरह से धंस भी गया है।

बताया जाता है कि जून महीने में ही पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में कई जगह गड्ढे पड़ गए थे। लेकिन अब इसमें दरार आने की वजह से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इसके कारण योगी सरकार की सोशल मीडिया पर किरकिरी हो रही है।

इस मामले में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि

भाजपा सरकार में निर्माण और भ्रष्टाचार के बीच ऐसा हुआ क़रार कि उद्घाटन से पहले ही पड़ गयी दरार! काम के नाम पर इन्होंने केवल ‘समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे’ का नाम ही बदला है।

‘पूर्वांचल’ एक्सप्रेसवे बनाते-बनाते मान्यवर स्वयं ‘पूर्व’ मतलब भूतपूर्व हो जाएंगे! #झूठ_का_फूल।

आपको बता दें कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे योगी सरकार का ड्रीम प्रोजेक्ट कहा जा रहा था। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस एक्सप्रेस-वे के निर्माण की पूरी निगरानी भी कर रहे थे। जिसका 95 फीसदी काम पूरा हो चुका है।

जल्द ही इसका लोकार्पण करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी उत्तर प्रदेश आने वाले हैं।

लेकिन इससे पहले ही योगी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्ट की पोल खुल गई है। विपक्षी पार्टियों द्वारा इसे भ्रष्टाचार का नतीजा बताया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

six + 17 =