मंगलवार सुबह ज़ी न्यूज़ के प्राइम टाइम शो डीएनए के नए एंकर रोहित रंजन के घर छत्तीसगढ़ पुलिस जा पहुंची। पुलिस की मानें तो ये गिरफ्तारी कांग्रेस नेता राहुल गाँधी के खिलाफ तोड़-मरोड़कर झूठी खबर फ़ैलाने और उदयपुर हत्याकांड मामले में उन्हें फ़साने के इल्जाम में हुई।

ज़ी न्यूज़ ऑफिस के बाहर घंटो प्रदर्शन के बाद नॉएडा सेक्टर 20 में रोहित के खिलाफ केस दर्ज हुआ जिसके बाद रोहित की गिरफ़्तारी की गयी।

रोहित रंजन अपने ट्विटर पर लिखते है बिना लोकल पुलिस को जानकारी दिए छत्तीसगढ़ पुलिस मेरे घर के बाहर मुझे अरेस्ट करने के लिए खड़ी है,क्या ये क़ानूनन सही है”

रोहित ने अपने इस ट्वीट में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और एसएसपी ग़ज़ियाबाद को टैग करके अपनी बात कही।

जिसके जवाब में रायपुर पुलिस ने लिखा “सूचित करने के लिए ऐसा कोई नियम नहीं है. फिर भी, अब उन्हें सूचित कर दिया गया है. पुलिस टीम ने कोर्ट का गिरफ्तारी वारंट दिखाया है. आपको सहयोग करना चाहिए, जांच में शामिल होना चाहिए और अपना बचाव अदालत में रखना चाहिए | ”

आपको बता दें कि रोहित रंजन ने 2 जुलाई को अपने शो डीएनए पर राहुल गाँधी के खिलाफ गलत खबर फ़ैलाने के लिए माफ़ी मांगी थी।

उन्होंने लिखा था ” कल हमारे शो DNA में राहुल गांधी का बयान उदयपुर की घटना से जोडकर ग़लत संदर्भ में चल गया था, ये एक मानवीय भूल थी जिसके लिए हमारी टीम क्षमाप्रार्थी हैं, हम इसके लिए खेद जताते हैं। ”

हालांकि कांग्रेस ने इस घटना के बाद भाजपा पर बढ़ चढ़कर आरोप लगाया। राहुल गाँधी लिखते है ” दुष्प्रचार और झूठ ही भाजपा-RSS की नींव है।

देश को नफ़रत की आग में झोंककर हाथ सेंकने वाली भाजपा-RSS का इतिहास पूरा हिंदुस्तान जानता है। ये देशद्रोही चाहे जितना तोड़ने का काम कर लें, कांग्रेस उससे ज़्यादा भारत जोड़ने का काम करती रहेगी।”

आज सुबह कि इस घटना के बाद से ट्विटर पर #zeejhukeganahi नंबर 1 पर ट्रेंडिंग है। इस हैशटैग के साथ अबतक कुल मिला के 3000 से भी अधिक ट्वीट किए जा चुके है और संख्या लगातर बढ़ती ही चली जा रही है।

ऐसा पहला बार नहीं हुआ है जब ज़ी न्यूज़ ने किसी घटना को तोड़ – मरोड़कर कर जनता के सामने पेश किया हो, मगर ये पहली बार ज़रूर है जब ज़ी न्यूज़ के एंकर की इस तरह से गिरफ्तारी की गई हो।

तो अब देखना ये है कि क्या ये गिरफ्तारी झूठ और न्यूज़ के नाम पर चल रहे कई टीवी चैनेलो का अंत होगा या फिर फिरसे खुदको पत्रकार कहने वाले ये लोग कानून के हाथों से छूट जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

three + 18 =