• 5.9K
    Shares

लगता है कि, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बीजेपी और योगी आदित्यनाथ ने ये मूड बना लिया है कि, वो ये लोकसभा चुनाव हिंदू-मुसलमान करके लोगों में ज़हर भर कर ही जीतेंगे। तभी तो कल पश्चिम बंगाल में ये कहने के बाद कि, यहाँ मुहर्रम के लिए दुर्गा पूजा कार्यक्रमों को रोक दिया जाता है।

आज सीएम योगी मुजफ्फरनगर में हुए दंगों के आरोपियों के ऊपर दर्ज केस को हटाने की तैयारी में है। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगों के 100 आरोपियों पर दर्ज 38 केस को ख़त्म करने का आदेश दिया है। यानी उनके ऊपर लगे केस को वो हटाने जा रही है।

जिस बंगाल में दुर्गा पूजा और मोहर्रम धूमधाम से मनाया जाता है वहां झूठ बोलकर ‘नफरत’ फैला रहे हैं योगी

INDIA TODAY की ख़बर के मुताबिक़, योगी सरकार चाहती है कि दंगों में शामिल केसों में से 38 केसों को हटाया जाए। 

एक तरफ़ किसी का घर लुट गया, लोग बेघर हो गएँ, बर्बाद हो गएँ, तबाह हो गएँ और दूसरी ओर सरकार इनके गुनाहों के आरोपियों को माफ़ करने जा रही है। ये निहायत ही शर्मनाक है।

गोरखपुर में दिमाग़ी बुखार से सैकड़ों ‘बच्चे’ मर रहे हैं और योगी बाबा ‘बंगाल का जादू’ सीखने गए हैं- संजय सिंह

पत्रकार आशुतोष मिश्रा ट्वीटर पर लिखते हैं कि,

यूपी में दंगाइयों के अच्छे दिन……इस लोकसभा चुनाव के ठीक पहले पिछले लोकसभा चुनाव के पहले “हुएगए दंगों के आरोपियों को बचाएगी योगी सरकार