मोदी सरकार के झूठे दावों की पोल भाजपा शासित राज्यों में हर दिन खुल रही है। देश में फैली भयंकर कोरोना महामारी में कई राज्यों की भाजपा सरकार कोरोना मरीजों और इससे मरने वाले मृतकों के आंकड़े छुपा रही है।

वहीं कई राज्यों के मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि उनके पास कोरोना से लड़ने के लिए हर तरह की स्वास्थ्य सुविधाएं मौजूद हैं।

लेकिन सोशल मीडिया के जरिए हर रोज सामने आ रहा है कि किस तरह से लोग अस्पतालों में अपने परिजनों का इलाज करवाने के लिए लोग तड़प रहे हैं।

ऐसी ही एक घटना मध्यप्रदेश के अशोकनगर से सामने आई है। जहां चंदेरी थाने में पदस्थ महिला सब इंस्पेक्टर आद्रियाना भगत को न अस्पताल में बेड मिल पाया और ना ही ऑक्सीजन।

अपने पति का इलाज करवाने के लिए सब इंस्पेक्टर अस्पताल प्रशासन के आगे गुहार लगाती रही। इलाज नहीं होने के कारण उनके कोरोना संक्रिमत पति का निधन हो गया।

पत्रकार काशिफ काक्वी ने महिला सब इंस्पेक्टर एक वीडियो अपने ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा है कि “मैं कहती रही कि इन्हें वेंटीलेटर दे दो मगर…”

अशोकनगर (MP) अस्पताल में चंदेरी थाने में पदस्थ महिला SI आद्रियाना भगत के पति को न बेड मिला, न ऑक्सीजन। दो मासूम बच्चों के साथ पति का शव जमीन पर लिए रोती-बिलखती रही SI.

 

वीडियो में देखा जा सकता है कि महिला सब इंस्पेक्टर अपने पति की मौत के बाद उनके शव को लेकर रो रही है। उन्होंने बताया है कि रात में वह अपने पति को अस्पताल लेकर आई थी। लेकिन अस्पताल में जगह नहीं मिली।

उन्होंने डॉक्टर से वेंटीलेटर और ऑक्सीजन की भी मांग की। उन्हें इन दोनों में से कुछ भी उपलब्ध नहीं करवाया गया।

गौरतलब है कि भारत सरकार को दुनिया भर के कई देशों ने कोरोना संक्रमण से जंग लड़ने के लिए संभावित मदद भेजी है। लेकिन इसके बावजूद अस्पतालों में लोग ऑक्सीजन और वेंटीलेटर्स के अभाव की वजह से मर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 + 14 =