vishal dadlani
Vishal Dadlani
  • 87.8K
    Shares

‘गौमूत्र’ को कोरोना वायरस का रामबाण इलाज बताया जा रहा है। कई हिंदुत्ववादी संगठनों और बीजेपी के लोगों द्वारा दावा किया जा रहा है कि गौमूत्र के सेवन से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है।

लेकिन ये दावे कितने बेबुनियाद हैं, इसकी एक बानगी तब देखने को मिली जब कोलकाता में गौमूत्र पीने से एक नागरिक स्वयंसेवक बीमार पड़ गया। जिसके बाद गौमूत्र पिलाने वाले बीजेपी कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया गया।

दरअसल, सोमवार को उत्तरी कोलकाता में बीजेपी के कार्यकर्ता 40 वर्षीय नारायण चटर्जी ने एक गौशाला में गौमूत्र पार्टी का आयोजन किया था। इस दौरान उन्होंने कई लोगों को गोमूत्र ये कहकर पिलाया था कि इसके सेवन से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है।

‘गौमूत्र’ पीने से बीमार पड़ा शख़्स, पुलिस ने पिलाने वाले BJP कार्यकर्ता को किया गिरफ़्तार

BJP कार्यकर्ता ने ये दावा भी किया था कि गौमूत्र पहले से वायरस से संक्रमित लोगों को भी ठीक कर सकता है। चटर्जी के इस दावे पर भरोसा करते हुए एक नागरिक स्वयंसेवक ने भी गौमूत्र का सेवन कर लिया और वह बीमार पड़ गया। जिसके बाद उसने चटर्जी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने बीजेपी कार्यकर्ता को गिरफ्तार कर लिया।

वहीं इस मामले पर बॉलीवुड सिंगर विशाल ददलानी ने तंज करते हुए लिखा- ‘अगर ये मरीज़ सच्चा श्रद्धालु है तो गोबर खाके ठीक हो जाएगा. पार्टी के आयोजक महानुभाव को तुरंत किसी भाजपा-शासक राज्य का मुख्यमंत्री घोषित कर देना चाहिये. बाक़ी जित्ने महान वैज्ञानिक गोमुत्र-सेवन का प्रचार करते हैं, आप भी ये प्रयास अवश्य कीजिये.’

आपको बता दे कि इससे पहले 14 मार्च को दिल्ली में अखिल भारतीय हिंदू महासभा की ओर से गोमूत्र पार्टी का आयोजन किया गया था। जानकारी के मुताबिक, इस पार्टी में करीब 200 लोग शामिल हुए थे, जिन्होंने गोमूत्र पिया था। इस पार्टी के आयोजकों ने भी कोरोना वायरस को भगाने के लिए पार्टी के आयोजन का दावा किया था और यह भी कहा था कि ऐसी ही पार्टियों का आयोजन वो पूरे देश में करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here