देश में फैली कोरोना संक्रमण की बीमारी की वजह से लोग काफी परेशान हो चुके हैं। कोरोना से हो रहे आर्थिक नुकसान की चिंता की वजह से लोग डिप्रेशन का शिकार होते जा रहे हैं।

दरअसल कोरोना महा संकट के चलते देश में गरीबी और बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। जिसे देखते हुए गरीब वर्ग और मध्यम वर्गीय लोग काफी परेशान हैं।

इसी बीच खबर सामने आई है कि नोएडा के सेक्टर 82 में रहने वाले एक इंजीनियर ने बेरोजगारी की वजह से डिप्रेशन में आकर आत्महत्या कर ली है।

खबर के मुताबिक, 48 वर्षीय इस शख्स ने अपने ही घर में पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या की है। इस घटना की सूचना सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पूछताछ के दौरान पुलिस को यह जानकारी प्राप्त हुई है कि मृतक का नाम धर्म दत्त भट्ट है जो कि एक आईटी कंपनी में काम करते थे। कोरोना महासंकट के चलते सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के चलते उनकी नौकरी छूट जाने की वजह से वह काफी डिप्रेशन में थे।

बताया जाता है कि रक्षाबंधन पर धर्म दत्त की पत्नी अपने बेटे के साथ अपने मायके गई थी। जब धर्म दत्त की पत्नी अपने भाई के साथ घर वापस लौटी तो उन्होंने और उनके भाई ने उन्हें कई फोन किए और काफी देर तक दरवाजा भी खटखटाया लेकिन जब उनकी सभी कोशिशें नाकाम रही।

इसके बाद उन्होंने पुलिस को इस मामले की सूचना दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर अंदर देखा तो धर्म दत्त का शव पंखे पर दुपट्टे के सहारे लटक रहा था। पुलिस ने बताया है कि मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है।

बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान नौकरी छूट जाने की वजह से धर्म दत्त काफी परेशान चल रहे थे। हालांकि अब तक जांच में आत्महत्या का कारण पता नहीं चल पाया है लेकिन पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + 5 =