भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। जिसमें वह यह कहती हुई नजर आ रही है कि ‘भगवान राम का नाम या अयोध्या भाजपा की बपौती नहीं है। राम भगवान सबके हैं।’

गौरतलब है कि 5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के मौके पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन होने वाला है।

जिसमें देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत भारतीय जनता पार्टी के कई दिग्गज नेताओं और संत समाज के लोगों को न्योता भेजा गया है। इसी बीच उमा भारती का ऐसा बयान उनके लिए मुसीबत खड़ी कर सकता है।

दरअसल पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा है कि जो भगवान श्रीराम को मानते हैं और भाजपा में हैं या नहीं है। चाहे वह किसी भी धर्म के हो या किसी भी पार्टी के हो या फिर किसी भी समुदाय के हो, जो लोग भगवान राम के नाम में आस्था रखते हैं, वह दुनिया में कहीं भी रहते हो सभी को अधिकार है कि इस मामले पर अपनी राय दें।

इससे आगे बीजेपी नेता उमा भारती ने यह भी कहा है कि उस अधिकार को रोकने का अगर हम अहंकार पाल लेंगे कि भगवान राम पर हमारा पेटेंट है, तो हम भूल रहे हैं कि हमारा अंत होना है और राम नाम का कभी अंत नहीं हो सकता।

बीजेपी नेता उमा भारती द्वारा दी गई इस प्रतिक्रिया पर कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने भी अपनी राय रखते हुए उन्हें धन्यवाद कहा है।

दरअसल कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर के शिलान्यास के 5 अगस्त के मुहूर्त को अशुभ करार देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस शिलान्यास कार्यक्रम को स्थगित करने की अपील की थी।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि भारत में हजारों साल की सनातन धर्म की परंपराएं चली आ रहीं हैं। हमारे धर्म में हजारों वर्ष की जो संस्कार एवं संस्कृति है, उसमें चातुर्मास में ना कोई संत, ना कोई महात्मा अपने स्थान को छोड़ता है और कोई शुभ काम नहीं होता है। विशेषकर तो हर चीज के लिए मुहूर्त देखा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fourteen − three =