महाराष्ट्र की महाविकास आघाडी सरकार ने राज्य की सत्ता में एक साल पूरा कर लिया है इस मौके पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के मुखपत्र सामना को एक इंटरव्यू दिया है जिसमें उन्होंने मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार पर कड़ी प्रतिक्रियदी दी है।

यह बात जगजाहिर हो चुकी है कि भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के बीच बीते लंबे समय से तनाव चल रहा है। दोनों राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर किसी ना किसी मुद्दे को लेकर हमलावर हो रही हैं।

सामना को दिए गए इंटरव्यू में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सुशांत सिंह राजपूत के मुद्दे से लेकर शिवसेना नेताओं पर सरकारी एजेंसियों के हमले और लव जिहाद के मुद्दे पर निशाना साधा है।

उद्धव ठाकरे के इंटरव्यू की हेडिंग में सामना ने लिखा है कि जनता का आशीर्वाद है, ईडी सीबीआई का डर कैसे दिखाते हो ?

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री का कहना है कि मोदी सरकार सरकारी एजेंसियों का इस्तेमाल कर हमें डरा नहीं सकती। हमने अपने राज्य में सीबीआई को बैन कर दिया है।

ताकि इसका दुरुपयोग कम हो सके। अगर भाजपा बदले की भावना से काम करना चाहती है तो हम एक मामले पर उनसे दस के बदले ले सकते हैं।

महाराष्ट्र का इतिहास देख लीजिए हमने हमेशा अपने राज्य के आगे आने वाले लोगों को अच्छा सबक सिखाया है। भाजपा को चेतावनी भरे अंदाज में कहा है कि मैं शांत हूँ, नपुंसक नहीं हूँ।

इस दौरान उन्होंने लव जिहाद का मुद्दा उठाते हुए भाजपा पर बड़ा सवाल दागा है। मुख्यमंत्री ने पूछा है कि अगर भाजपा को लव जिहाद से इतनी ही दिक्कत है तो उन्होंने महबूबा मुफ्ती, नीतीश कुमार या फिर चंद्रबाबू नायडू के साथ गठबंधन कैसे कर लिया ? क्या विभिन्न विचारधारा रखने वाले राजनीतिक दलों से गठबंधन करना लव जिहाद नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

13 + 6 =