केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा- चुनाव आयोग को हरे झंडों के प्रयोग को प्रतिबंधित कर देना चाहिए। इस रंग के झंडों को अक्सर मुस्लिमों से जुड़े राजनीतिक और धार्मिक निकायों से जोड़कर देखा जाता है। ये घृणा फैलाते हैं और पाकिस्तान में इस्तेमाल होने की धारणा बनाते हैं।

ये वही गिरिराज सिंह हैं जिन्हें हर बात में पाकिस्तान की साजिश दिखाई देती है।

गिरिराज सिंह के इस बयान पर राजद नेता डॉ तनवीर हसन ने उन्हें जेडीयू का झंडा बदलवाने की नसीहत दी है। उन्होंने  सोशल मीडिया पर गिरिराज को घेरते हुए सोशल मीडिया पर लिखा- सुनो गिरिराज सिंह पहले अपने आका की पार्टी जेडीयू का झंडा बदलवाइये।

सोशल : बात बात पर पाकिस्तान भेजने वाले गिरिराज सिंह आज बेगूसराय जाने से क्यों डर रहे हैं

नीतीश कुमार की पार्टी के झंडे का रंग भी हरा है। दंगाई और बलवाई चरित्र तो है ही! इसलिए पहले जेडीयू के झंडे को आग लगाइये। बिना हड्डी की ज़ुबान है कुछ भी बकते रहते है। हार देख बौखला गए है का?

बता दें कि बेगुसराय में तनवीर हसन राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन के उम्मीदवार हैं उन्हें टक्कर देने के लिए NDA ने  गिरिराज सिंह को मैदान में उतरा है। तनवीर पिछली बार दूसरे नंबर पर रहे थे उन्हें करीब 3,69,892 वोट मिले थे।

मगर मीडिया के बनाए गए माहौल के मुताबिक़, इस बार मुकाबला त्रिकोणीय हो चला है क्योंकि गिरिराज सिंह के अलावा भाकपा के युवा नेता कन्हैया कुमार भी यहीं से पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रहें है।