• 99K
    Shares

‘स्वामी चिन्मयानंद से जब मालिश करवाने पर सवाल किया गया तो उन्होंने आखिरकार ये माना कि हाँ ये वीडियो में उनकी खुद की फोटो और वीडियो है। उन्होंने जो बातें की है जिसमे कुछ अश्लील बातों का ज़िक्र था उसे भी स्वामी ने स्वीकार कर लिया है।’ ये बयान एसआईटी के चीफ नवीन अरोड़ा का जिन्होंने चिन्मयानंद को गिरफ्तार करने के बाद प्रेस कांफेरंस कर ये बात कही है।

ऐसे में सवाल उठता है कि खुद को संत और सन्यासी कहने वाले स्वामी चिन्मयानंद लड़की से अश्लील बातें क्यों करते थे? आखिर उन्होंने मालिश क्यों करवाई जिसके लिए उन्हें अब शर्मिंदा होना पड़ रहा है। गौर करने वाली बात ये भी है कि ऐसी हरकत करने वाले स्वामी राष्ट्रीय सेवा संघ और मुख्यमंत्री योगी के करीबी माने जाते है।

यही वजह थी कि इससे पहले एक दूसरे मामले में स्वामी पर लगे यौन शोषण के केस को योगी सरकार ने वापस ले लिया था। मगर अब जब दूसरा मामला सामने आया और एसआईटी की टीम स्वामी पर शिकंजा कसना शुरू किया तो उन्होंने खुद ही क़ुबूल किया है कि वायरल हुए वीडियो में वह ही हैं। आरोपों को कबूल करने के साथ ही चिन्मयानंद ने ये भी कहा वह अपनी ग़लती पर शर्मिंदा हैं।

इस मामले पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने बीजेपी पर निशाना साधा है। स्वाति ने कहा कि चिन्मयानन्द ने कबूला लड़कियों से मालिश कराता था, उनसे गंदे काम करता था। अब भी BJP इसे नहीं निकालेगी? देश का पूर्व ग्रहमंत्री ऐसा लीचड़! पता नही कितनो को शिकार बनाया होगा! और UP CM तो पहले भी इस घटिया आदमी के रेप केस वापिस ले चुके है। धिक्कार है!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here