फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा देश की आजादी को लेकर दिए गए बयान पर राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। विपक्षी नेता इस मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं।

न्यूज़ चैनलों पर डिबेट्स में भाजपा और कांग्रेस के नेता आमने-सामने आ चुके हैं।

इस कड़ी में आज तक न्यूज़ चैनल पर आयोजित एक डिबेट में कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने कंगना रनौत पर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

उन्होंने कहा है कि भाजपा की पसंदीदा अभिनेत्री हमारी आजादी जिसमें कुर्बानियों का खून मिला हुआ है।

उसे भीख कहती है और यह सारे फर्जी राष्ट्रवादी चुपचाप बैठे तमाशा देखते हैं। इस तरह के देशद्रोही को पदमश्री दिया जाता है।

सोशल मीडिया पर डिबेट की एक स्तर पर काफी वायरल हो रही है।

जिसमें कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत यह कहती हुई सुनी जा सकती हैं कि हिंदू होने और राष्ट्रवादी होने का सर्टिफिकेट हमें भारतीय जनता पार्टी से तो बिल्कुल भी नहीं चाहिए।

आजाद भारत में और उससे पहले अगर किसी ने राम के नाम को आत्मसात किया था। तो वह देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी थे। यह तो महात्मा गांधी के हत्यारों के साथ खड़े होने वाले लोग हैं।

इनसे में हिंदुत्व और राष्ट्रवाद का सर्टिफिकेट लूंगी? ये वो लोग हैं। जब एक औरत कहती हैं कि हमें देश की आजादी भीख में मिली है तो उनके मुंह बंद हो जाते हैं।

आज उसकी बुराई कीजिए और उसे पद्मश्री अवार्ड वापस लीजिए। तो मैं आपको मानती हूँ।

भाजपा के नेता तो ढोंगी राष्ट्रवादी और ढोंगी हिंदू है। ये वो लोग हैं जो हिंदू धर्म के नाम पर निर्मोही अखाड़ा जो अयोध्या मामले में याचिकाकर्ता थे, उन्होंने 1400 करोड़ रुपए के गबन का आरोप लगाया था।

उनका मुंह बंद करवा दिया गया। हमें भारतीय जनता पार्टी से हिंदुत्व और राष्ट्रवाद का सर्टिफिकेट बिल्कुल भी नहीं चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

nine + 14 =