उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में ज़मीन पर कब्ज़ा करने को लेकर भू-माफियाओं ने 10 गोंड आदिवासियों पर फायरिंग कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया। इस घटना के बाद ट्विटर पर ‘यूपी में जंगलराज’ (#UPmeinJungleRaj) ट्रेंड करने लगा। लेकिन देश के मेनस्ट्रीम मीडिया में आदिवासियों के इस नरसंहार पर कोई ख़ास चर्चा देखने को नहीं मिली।

हालांकि कुछ चैनलों ने ख़ानापूर्ति के लिए इसपर चर्चा की। लेकिन इस घटना पर चर्चा यूंही नहीं की जा सकती, इसपर चर्चा करने के लिए कानून व्यवस्था को कटघरे में करना ही पड़ेगा, जो मौजूदा दौर के किसी भी चैनल के लिए आसान नहीं। इसी मुश्किल काम को अंजाम देने की कोशिश आजतक ने की। लेकिन सत्ता से सवाल करना चैनल के लिए इतना मुश्किल साबित हुआ कि उसकी ‘आह’ निकल गई।

चैनल ने अपने इस कार्यक्रम का पोस्टर ट्विटर पर शेयर किया। जिसमें लिखा था, योगी जी…आह योगी जी…”। सोशल मीडिया पर इस पोस्टर को आने के बाद चैनल का जमकर मज़ाक बनाया जाने लगा। लोगों ने कहा कि यह पत्रकारिता की चीखें हैं।

राजनीतिक व्यंगकार आकाश बनर्जी ने ट्विटर के ज़रिए चैनल के पैस्टर को शेयर करते हुए पूछा, “ये रोहित सरदाना या पत्रकारिता की चीखें हैं”।

बता दें कि सोनभद्र के नरसंहार की घटना पर चर्चा आजतक के कार्यक्रम दंगल में हुई। जिसके होस्ट रोहित सरदाना थे। सरदाना को ऐसे पत्रकार के रूप में जाना जाता है, जो सत्ता से सवाल करने के बजाए विपक्ष से सवाल करते हैं। सत्ता का बचाव करने के चक्कर में सरदाना की विपक्ष के कई नेताओं से सोशल मीडिया तक पर बहस हो चुकी है।