भारतीय जानता पार्टी (भाजपा) की सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर अक्सर ऐसा कुछ ऐसा बोल जाती हैं जिससे उन्हें बार-बार माफी मांगनी पड़ जाती है। गोडसे पर दिए बयान के मामले में प्रज्ञा ने एक बार फिर लोकसभा में माफी मांगी है। अपना बयान पढ़ते हुए प्रज्ञा ने कहा कि, ”मैंने नाथूराम गोडसे को देशभक्त नहीं कहा है लेकिन अगर फिर भी किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगती हूं।”

हालांकि प्रज्ञा ठाकुर के माफी वाले बयान पर विपक्ष संतुष्ट नहीं हुआ तथा बिना शर्त माफी की मांग पर अड़े रहे। जिसके बाद प्रज्ञा को बिना शर्त एक बार फिर माफी मांगनी पड़ी।

इससे पहले भी प्रज्ञा ठाकुर ने लोकसभा चुनाव के दौरान महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त कहा था। विवाद होने के बाद प्रज्ञा ने सार्वजानिक माफ़ी मांगी थी।

आतंकी गतिविधियों में लिप्त रह चुकी बीजेपी सांसद प्रज्ञा के माफ़ी मांगने पर पत्रकार प्रशांत कनोजिया ने ट्वीटर कर लिखा है कि, “प्रज्ञा मानों सावरकर से मुकाबला कर रही है। सबसे ज्यादा माफ़ी मांगने का रिकॉर्ड बनाना चाहती हैं।”

प्रज्ञा ने अपने बयान में कहा, “मेरे बयान को गलत ढंग से प्रस्तुत किया गया है। मैं महात्मा गांधी का सम्मान करती हूं।” बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर ने संसद में द्रमुक सांसद ए राजा के बयान के बीच में टोकते झुए कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त है।