एक तरफ जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने की दुहाई दी जा रही है। वहीं दूसरी तरफ देश में चल रहे चुनावों में राजनीतिक दलों को धड़ल्ले से चुनावी रैलियां करने की छूट दी गई है।

इन चुनावी रैलियों में जुटने वाली भीड़ कोरोना से संक्रमित हो सकती है। लेकिन चुनावी फायदे के लिए लोगों की जान दांव पर लगाने से परहेज नहीं किया जा रहा।

सोशल मीडिया पर वायरल होती चुनावी रैलियों की तस्वीरों में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि यहां चुनाव प्रचार करने वाले मंत्रियों द्वारा खुलेआम कोरोना नियमों का उल्लघन किया जा रहा है।

इस कड़ी में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ऑफिस ऑफ शिवराज की तरफ से एक ट्वीट किया गया है।

जिसमें यह कहा गया है कि चुनाव में अब केवल आठ दिन बचे हैं। पूरी ताकत @BJP4MP को जिताने में लगा दो। घरों से बाहर निकल जाओ, यह चुनाव आपको ही लड़ना है।

जिस बूथ पर भाजपा सबसे अधिक वोट से जीतेगी, वहाँ सबसे पहले मैं आऊंगा!: मुख्यमंत्री श्री @ChouhanShivraj

ऑफिस ऑफ शिवराज द्वारा किए गए ट्वीट पर कटाक्ष करते हुए पत्रकार बृजेश राजपूत ने लिखा है कि चुनाव है कि मानता नहीं.. वोटिंग के बाद जाने कितने #coronavirus संक्रमित निकलेंगे, फिर कोई नेता मंत्री नहीं आएगा।

दरअसल मध्यप्रदेश के दमोह में उपचुनाव होने वाले हैं। जिसमें जीत हासिल करने के लिए भाजपा जमकर प्रचार कर रही है। उपचुनाव के चलते राज्य में एक बार फिर से सियासी गतिविधियां तेज हो चुकी है।

बता दें, राज्य में होने वाले इस उपचुनाव के लिए आखरी चरण के चुनाव प्रचार किए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि देश में चल रहे चुनावी माहौल के इतर कोरोना संक्रमण से स्थिति भयावह हो चुकी है। इसके चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के मुख्यमंत्रियों से बैठक भी की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

four + 3 =