मेघालय के राज्यपाल और भारतीय जनता पार्टी के नेता सत्यपाल मलिक बीते कई दिनों से अपने बयानों की वजह से चर्चा में बने हुए हैं।

दरअसल भाजपा नेता सत्यपाल मलिक केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार पर कई गंभीर आरोप लगा चुके हैं।

एक बार फिर उन्होंने भाजपा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा दिए हैं। न्यूज़ चैनल इंडिया टुडे के कंसल्टिंग एडिटर राजदीप सरदेसाई के साथ एक खास इंटरव्यू में मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गोवा सरकार द्वारा भ्रष्टाचार को लेकर के खुलासे किए हैं।

मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का कहना है कि कोरोना महामारी के दौरान गोवा की भाजपा सरकार इससे निपट पाने में असमर्थ साबित हुई। मैं अपने बयान पर पूरी तरह से कायम हूँ।

गोवा सरकार द्वारा जो भी कदम उठाए गए, उसमें भ्रष्टाचार हुआ था। मैंने गोवा सरकार के भ्रष्टाचार की पोल खोलने की कोशिश की। इसी वजह से मुझे वहां के राज्यपाल के पद से हटा दिया गया।

मैं जिस विचारधारा से जुड़ा हुआ हूं। उस वजह से मैं भ्रष्टाचार बर्दाश्त बिल्कुल भी नहीं कर सकता।

कोरोना महामारी के दौरान गोवा सरकार एक कंपनी के कहने पर घर-घर राशन बांटने की योजना शुरू की। इस कंपनी ने सरकार को पैसे दिए थे।

इस संदर्भ में कांग्रेस के कई नेताओं ने मुझे जांच करवाने के लिए कहा। मैंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी इसकी जानकारी दी।

केंद्र सरकार ने भी भ्रष्टाचार करने वाले लोगों से पूछताछ की। वह लोग तो ऐसा कुछ नहीं मानेंगे।

भाजपा नेता सत्यपाल मलिक का कहना है कि आज देश में लोग सच बोलने से डरते हैं। लेकिन मैं सिर्फ वही बोलता हूं। जो मुझे लगता है।

उन्होंने कहा कि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यह मांग करता हूं कि गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को बर्खास्त किया जाए।

इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस संदर्भ में जांच करवाए जाने के आदेश दिए जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × four =