बिहार में इस बार एनडीए द्वारा कोरोना वायरस को चुनावी मुद्दा बनाया गया है। हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भाजपा का संकल्प पत्र जारी करते हुए बिहार की जनता के लिए कोरोना का टीका फ्री लगाने की बात कही है।

इसके बाद से ही विपक्षी दलों द्वारा भाजपा पर कोरोना वैक्सीन के नाम पर राजनीति करने के आरोप लगाए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वैक्सीन को चुनाव प्रचार से अलग रखा गया है। लेकिन भाजपा ने कोरोना महामारी को भी अपनी राजनीति के लिए भुनाने की कोशिश की है।

बिहार की विपक्षी पार्टियों ने एनडीए पर हमला बोलते हुए कहा कि कोरोना का टीका इस देश का है, सिर्फ एक पार्टी का नहीं है।

कोरोना वैक्सीन का राजनीतिक इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए। बिहार की जनता इस बार भारतीय जनता पार्टी के जुमलों में फसने वाली नहीं है।

इस मामले में आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भाजपा पर निशाना साधा है।

उन्होंने बिहार की जनता को आगाह करते हुए ट्वीट किया है। संजय सिंह ने लिखा है कि “भाजपा ने बिहार की जनता को फ्री वैक्सीन देने का वादा किया है। मेरी बिहार के भाई बहनों से अपील है वोट डालने से पहले वैक्सीन ले लेना। वरना भाजपाई चुनाव के बाद यह कह देंगे कि यह तो एक जुमला था।”

अपने ट्वीट का स्क्रीनशॉट को फेसबुक पर शेयर करते हुए संजय सिंह ने पोस्ट लिखा है। जिसमें उन्होंने कहा है कि बिहार में भाजपा ने दिया है फ्री वैक्सीन का एक और जुमला। यह जुमला सुनते ही बिहार के साथियों में से एक खुशी से एक आवाज बोला- हमारे 15 लाख?

आपको बता दें कि विपक्षी पार्टियों का विरोध बढ़ता देख भाजपा ने अब फ्री कोरोना वैक्सीन के वादे की तुलना किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा से की है।

इस बार बिहार में नीतीश कुमार के विकास के झूठे दावों में एनडीए को वोट नहीं मिलने वाले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one × 3 =