पश्चिम बंगाल में हो रहे विधानसभा चुनाव अब दो राजनीतिक दलों के बीच की लड़ाई बन चुका है। जिसे जीतने के लिए दोनों राजनीतिक दल एक दूसरे को घेर रहे हैं।

पश्चिम बंगाल में चार चरण के मतदान पूरे हो चुके हैं। जबकि चार चरणों के लिए मतदान अभी बाकी है। पांचवें चरण के मतदान 17 अप्रैल को होने वाले हैं। जिसके लिए राज्य में चुनाव प्रचार शुरू से चल रहा है।

ऐसे में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर चुनाव आयोग द्वारा 24 घंटे के लिए चुनाव प्रचार करने को लेकर रोक लगा दी गई है।

बताया जाता है कि चुनाव आयोग द्वारा ममता बनर्जी पर यह कार्रवाई उनके दो बयानों की वजह से की गई है। लेकिन अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा भी चुनाव आयोग के इस फैसले पर पलटवार किया गया है।

ममता बनर्जी ने ऐलान किया था कि वह चुनाव आयोग के इस फैसले पर मंगलवार दोपहर 12 बजे कोलकाता के गांधी मूर्ति में धरना देंगी।

इसकी जानकारी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है कि भारत निर्वाचन आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक निर्णय के विरोध में, मैं कल दोपहर 12 बजे कोलकाता के गांधी मूर्ति में धरने पर बैठूंगी।

ममता बनर्जी के इस ट्वीट को आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने रीट्वीट किया है। उन्होंने ममता बनर्जी का समर्थन करते हुए चुनाव आयोग और भारतीय जनता पार्टी पर कटाक्ष किया है।

उन्होंने लिखा है कि चुनाव आयोग, भाजपा आयोग बन गया है। चुनाव आयोग को अपना दफ़्तर भाजपा कार्यालय में खोल लेना चाहिये। चुनाव आयोग का ऐसा भाजपाई करण देखकर टी. एन. शेषन जी की आत्मा रो रही होगी।

 

इससे पहले भी चुनाव आयोग पर भाजपा के साथ सांठगांठ के आरोप लग चुके हैं। विपक्षी दलों द्वारा चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल उठाए जाते रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

one + 19 =