देश में जिस रफ्तार से कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं। लोगों को एक बार फिर से लॉकडाउन लगने का डर सताने लगा है। इसी बीच दिल्ली और महाराष्ट्र में प्रवासी मजदूरों के एक बार फिर से अपने गृह राज्यों की तरफ जाने की दौड़ शुरू हो गई है।

केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा कोरोना संक्रमण के चलते सख्त किए गए नियमों के बीच दोबारा लॉकडाउन लगने की अटकलें लग रही हैं।

दरअसल देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कल सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बैठक कर कोरोना की खराब हो रही स्थिति पर सावधानी बरतनी के लिए कहा है।

खबर सामने आई है कि मुंबई से उत्तर प्रदेश आ रही एक ट्रेन में भीड़ नजर आई है। जिसकी तस्वीरें न्यूज़ चैनल भारत समाचार द्वारा ट्विटर पर शेयर की गई है।

जानकारी के मुताबिक, मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनस पर मौजूद इस ट्रेन में इतनी भीड़ है कि वहां पर पैर रखने की भी जगह मौजूद नहीं है।

इस मामले में आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भाजपा पर हमला बोला है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “ये मेरी समझ के बाहर है की जब PM, CM, HM की चुनावी रैली हो सकती है तो ट्रेने चलाकर मज़दूरों उनके घर क्यों नही पहुँचाया जा सकता?

मज़दूरों से इतनी नफ़रत क्यों? क्या एक बार फिर उनका जीवन संकट में डालने की तैयारी कर रही है सरकार?”

मुंबई के रेलवे स्टेशन के अलावा यही आलम दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल पर भी नजर आया। यहाँ पर भी प्रवासी मजदूरों का जबरदस्त हजूम लगा नजर आया।

दिल्ली से उत्तर प्रदेश, बिहार के कुछ मज़दूरों का कहना है कि पिछली बार कोरोना संक्रमण के मामले बढ़े थे। तो मोदी सरकार द्वारा लॉकडाउन में वो यहां फंसे रह गए थे।

अब वे यह नहीं चाहते कि फिर से ऐसी स्थिति बनेतो वो यहां फंसना नहीं चाहते हैं। इसलिए पहले ही अपने घर जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

8 − eight =