मोदी सरकार के खिलाफ अब कृषि कानूनों को पंजाब और हरियाणा के किसानों ने जिस तरह से मोर्चा खोला है। वो अब राष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है। खबर सामने आ रही है कि अब उत्तर प्रदेश में भी भारतीय किसान यूनियन ने भी भाजपा के खिलाफ बिगुल फूंक दिया है।

पंजाब और हरियाणा से दिल्ली कूच कर रहे किसानों को हरियाणा के तमाम बॉर्डर्स पर जिस तरह से रोका जा रहा है और उन पर अत्याचार किया जा रहा है। उससे देश भर के किसानों में आक्रोश है। इसके साथ ही भाजपा विपक्षी दलों के निशाने पर भी आ गई है।

भाजपा की पूर्व सहयोगी पार्टी शिरोमणि अकाली दल की नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने भी किसानों की आवाज को दबाने और उन पर पानी की बौछारें करने को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है।

इसके साथ ही हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा भी खट्टर सरकार पर भड़के हुए हैं।

उन्होंने कहा है कि अपने अधिकारों की बात रखने वाले किसानों के रास्ते में जिस तरह से बड़े-बड़े पत्थर रख पाए गए हैं और उन्हें रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया है। यह उनके लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन है।

अब आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को वाई सिक्योरिटी दिए जाने और देश के अन्नदाता ऊपर वाटर कैनन चलाने और आंसू गैस के गोले छोड़ने पर सवाल खड़े किए हैं।

संजय सिंह ने कंगना रनौत और किसानों पर पुलिस द्वारा पानी की बौछारें करने की तस्वीरें ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा है कि “अच्छे दिन किसके?”

विपक्षी दलों का कहना है कि भाजपा की सरकार किसान हितेषी होने के बड़े दावे करती रही है। लेकिन देश के अन्नदाताओं पर जिस तरह अत्याचार कर रही है। उससे साफ़ जाहिर हो रहा है कि ये किसान विरोधी सरकार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

fifteen + 16 =