देश में चल रही कोरोना महामारी के मामले में राज्यसभा सदन में विपक्षी दलों ने मिलकर मोदी सरकार को घेरा है। कोरोना पर राज्यसभा में चल रही चर्चा के दौरान शिवसेना के सांसद संजय राउत ने भाजपा सांसद विनय सहस्त्रबुद्धे के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने भाजपा नेता को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए धारावी का उदाहरण दिया। मोदी सरकार को घेरने के लिए शिवसेना सांसद संजय राउत ने तंजीय अंदाज में कहा है कि महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण की चपेट में आए कई लोग ठीक हो चुके हैं।

संजय राउत ने कहा कि क्या महाराष्ट्र में जो लोग कोरोना से ठीक हुए हैं। वह भाभी जी पापड़ खाकर हुए हैं ? यह राजनीतिक लड़ाई नहीं। बल्कि इस देश के लोगों को बचाने की लड़ाई है। धारावी जैसे इलाके में आज स्थिति कंट्रोल में है।

संजय राउत ने बताया कि उनकी मां और छोटा भाई जो कि विधायक है। वह भी कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। इस मामले में वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी बीएमसी की तारीफ की है।

कोरोना महामारी के दौरान मोदी सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों का महाराष्ट्र सरकार ने पूरी तरह से पालन किया है। भले ही अब केंद्र सरकार ने कोरोना से जुड़ी मेडिकल सामग्री के लिए पैसा देना रोक दिया है। मैं पूछना चाहता हूं कि कोरोना महामारी के दौरान शुरू किए गए पीएम केयर्स फंड का पैसा राज्यों के लिए नहीं है क्या ?

इस दौरान संजय राउत ने देश की बदहाल हो चुकी आर्थिक स्थिति पर भी मोदी सरकार को घेरा।

उन्होंने कहा कि इस वक्त देश की स्थिति ऐसी है कि जीडीपी सबसे निचले स्तर पर आ चुकी है। आरबीआई कंगाल हो चुका है। ऐसे में अब मोदी सरकार ने देश की सरकारी संस्थाओं को बेचने के लिए सेल लगा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

sixteen − 14 =