रिपब्लिक इंडिया के संस्थापक और पत्रकार अर्नब गोस्वामी के व्हाट्सएप चैट लीक होने के बाद मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर बनी हुई है।

इस संदर्भ में आज कांग्रेस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया। जिसमें पार्टी के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद, एके एंटनी, सुशील कुमार शिंदे और गुलाम नबी आजाद शामिल थे।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस ने कहा कि यह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा मामला है। हमारे देश के सुरक्षा बलों की सुरक्षा इससे जुड़ी हुई है। अर्नब गोस्वामी के पास ऐसी संवेदनशील और गोपनीय जानकारी थी। जो उनके पास नहीं होनी चाहिए थी।

सरकार में शीर्षक पदों पर बैठे सिर्फ चार पांच लोगों को ही इस तरह की सीक्रेट और ऑफिशियल जानकारी होती है।

एक पत्रकार को बालाकोट एयर स्ट्राइक से कुछ दिन पहले ही सारी जानकारी कैसे हासिल हुई। यह चिंताजनक विषय है।

कांग्रेस का कहना है कि वह इस मुद्दे को संसद में उठाएंगे और इसकी जांच की जाएगी। जो भी गुनाहगार पाया जाएगा। उसे सजा मिलनी चाहिए।

इस मामले में देश के पूर्व कानून मंत्री और कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने देश की न्यायपालिका पर सवाल खड़े किए हैं।

अर्नब गोस्वामी की व्हाट्सएप चैट में न्यायपालिका से जुड़े एक खुलासे का हवाला देते हुए सलमान खुर्शीद ने कहा है कि इस देश में एक तरफ हम संसद पर निर्भर रहते हैं।

तो दूसरी तरफ न्यायपालिका पर भी हमारा विश्वास है। न्यायपालिका का महत्व हम भली-भांति जानते हैं। अगर हमने न्यायपालिका पर विश्वास खो दिया। तो फिर कुछ नहीं बचेगा।

यह कहते हुए बड़ा कष्ट हो रहा है कि ऐसी गैर-जिम्मेदाराना बात हुई है। न्यायपालिका ने, जो कोई केस चल रहा है। जिसमें ये लोग संबंधित हैं। उसके बारे में जो टिप्पणी आई है वह टिप्पणी बहुत ही कष्टदायक है।

उन्होंने कहा कि इस देश में दूल्हा बिकता है यह हमने सुना था लेकिन जज खरीदा जाएगा ऐसा हमने कभी नहीं सुना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

1 × five =