केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी महिला सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे करती है लेकिन हर दिन इन खोखले दावों की पोल खोने वाली घटनाएं जनता के सामने आती हैं। यहां तक कि भाजपा के कई नेता महिला अपराध कई मामलों में फंसे हुए।

इसी बीच खबर सामने आई है कि भारतीय जनता पार्टी के एक नेता कन्हैया गिरी को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है।

जिस पर आरोप है कि उसने पुलिसकर्मी बनकर नंदीग्राम क्षेत्र में रहने वाली महिला के साथ दुष्कर्म किया और उसकी वीडियो बना ली।

भाजपा नेता कन्हैया गिरी के खिलाफ पीड़िता द्वारा 27 नवंबर को केस दर्ज करवाया गया है। पीड़ित महिला का बताना है कि उसका अपने पति से परिवारिक विवाद चल रहा है।

एक दिन भाजपा नेता कन्हैया गिरी का फोन आया और उसने खुद को पुलिसकर्मी बताते हुए इस विवाद को सुलझाने के लिए मदद का आश्वासन दिया।

इसके बाद भाजपा नेता कन्हैया गिरी ने उसके पति पर कई केस डलवा दिए। एक दिन भाजपा नेता कन्हैया गिरी ने एक होटल में मुझे बुलाकर पानी पिलाया।

जिसके पीते ही मैं बेहोश हो गई और उसके बाद उसने मेरे साथ दुष्कर्म करते हुए अश्लील वीडियो बना ली। जिसके तहत वह मुझे ब्लैकमेल कर रहा था।

इस मामले में पत्रकार रवीश कुमार ने भाजपा पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने फेसबुक पर लिखा-

“क्या कोई बता सकता है कि राष्ट्रवाद, देशभक्ति को लेकर कन्हैया गिरी क्या पोस्ट करता था? इसमें ऐसी क्या ख़ूबी थी कि बीजेपी ने मीडिया प्रभारी बनाया था। बीजेपी ने आई टी सेल के ज़रिए राजनीति की भाषा बदल दी है।

यह किसी को शोध करना चाहिए कि क्या इसके लिए ऐसे ही लोग भरे गए ताकि उन्हें पार्टी का प्रभाव देकर झूठ और अभद्र भाषा बोलने के कामों में लगाया जा सके।

आई टी सेल कन्हैया गिरी के प्रकरण के सहारे बाक़ी सदस्यों से अच्छे आचरण की अपील कर सकता है लेकिन धर्म का नाम लेकर दिन रात झूठ बोलने वाले इसकी अपील कैसे कर सकते हैं ?

मेरे बारे में जनरल रावत की पत्नी को लेकर झूठी टिप्पणी फैलाने वाला आई टी सेल एक प्रमाण नहीं दे सका कि मैंने कहाँ बोला है लेकिन इस ख़बर को वो चाहे तो वायरल करा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

ten + 20 =