केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार द्वारा महिला सुरक्षा के बड़े-बड़े दावों के बीच भाजपा शासित राज्य में ही हर दिन दिल दहला देने वाली महिला अपराध की घटनाएं घट रही है।

यहां तक कि भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं पर भी महिला अपराध के मामले दर्ज हैं।

इस बीच खबर सामने आई है कि राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के विधायक प्रताप भील के खिलाफ 10 महीने के अंदर ही दूसरी बार रेप का मुकदमा दर्ज किया गया है।

पीड़ित लड़की ने भाजपा विधायक पर आरोप लगाए हैं कि उन्होंने नौकरी देने के बहाने उसके साथ कई बार रेप किया है। यहां तक कि उसे शादी का झांसा में दिया गया।

भाजपा विधायक द्वारा पीड़िता के आरोपों को बेबुनियाद बताया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, 10 महीने पहले यानी कि फरवरी में भी एक महिला ने भाजपा विधायक प्रताप भील के खिलाफ रेप का केस दर्ज करवाया था। जिसकी जांच अभी भी चल रही है।

इसी बीच उदयपुर शहर की एक लड़की एसपी के समक्ष पेश हुई है। जिस ने बताया है कि रोजगार की तलाश में वह भाजपा विधायक प्रताप भील से मिली थी। जिन्होंने उसे नौकरी और शादी दिलाने का झांसा देकर कई रेप किया।

इस मामले में कांग्रेस नेता श्रीनिवास बी वी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि आखिर बेटियां किससे बचाना है मोदी जी?

दरअसल भारतीय जनता पार्टी द्वारा ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ का नारा दिया गया है। लेकिन भाजपा के ही शासनकाल में देश की बेटियां और महिलाएं सबसे ज्यादा असुरक्षित हैं।

इस मामले में विपक्षी दलों द्वारा भी आरोप लगाए जाते हैं कि भाजपा महिला सुरक्षा के बड़े-बड़े दावे करती है।

लेकिन इस संदर्भ में कोई ठोस कदम नहीं उठाती। बल्कि कई ऐसे मामले हुए हैं। जहां पर भाजपा रेप और दुष्कर्म के आरोपियों को बचाने का काम करती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × 4 =