• 3.6K
    Shares

सीबीआई विवाद के बाद सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने कुछ समय काम से आराम देकर विवाद शांत होने तक उन्हें छुट्टी देने का फैसला सुनाया था।

खबर आ रही है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपना वह फैसला रद् कर दिया है और 75 दिन बाद, मंगलवार को सीबीआई निदेशक अलोक वर्मा अपना कार्यभार संभालने जा रहे हैं।

इस खबर के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी काफी खुश और संतुष्ट दिखाई दिए। राहुल ने कहा कि सीबीआई चीफ राफेल मामले की जांच करने वाले थे इसलिए उन्हें रात के एक बजे निकाल दिया गया । लेकिन अब चीफ वापस आ गए हैं, हमें थोड़ा न्याय मिला है देखिए आगे क्या होता है।

आलोक वर्मा की बहाली पर बोले स्वामी-मोदीराज में एक ईमानदार अधिकारी को बेइज्जत किया गया, ये दुर्भाग्यपूर्ण है

कितनी कोशिश कर ले प्रधानमंत्री राफेल मामले से नहीं बच पाएंगे। सारे सबूत हैं उनके खिलाफ की कैसे उन्होंने अपने दोस्त अनिल अंबानी को जनता के 30,000 करोड़ रुपए दिए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण का जिक्र किया। राहुल गांधी ने कहा, संसद में रक्षामंत्री ढ़ाई घंटे तक बोलीं पर उन्होंने मेरे सवाल का जवाब नहीं दिया।

मेरा एक सीधा प्रश्न हैं जब प्रधानमंत्री ने राफेल के पुराने डील को बदला तो क्या रक्षा मंत्रालय और वायुसेना के अधिकारियों ने विरोध नहीं किया था? इसका जवाब दें ।

आलोक वर्मा पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से ये साफ हो गया कि IRCTC घोटाले में ‘लालू और तेजस्वी’ को भाजपा ने फंसाया था

राफेल डील की जांच आलोक वर्मा के अंतर्गत होना था, मगर उन्हें सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई कामों से कुछ दिनों के लिए छुट्टी दे दी थी। आलोक वर्मा अपना कार्यभार वापिस संभालने जा रहे हैं पर एक दुखद खबर ये है कि वो इस महीने की आखिर में रिटार्ड होने वाले हैं।

ऐसे में ये स्थिति पैदा न हो जाए कि कांग्रेस और विपक्षी दलों को नए सीबीआई चीफ की नियुक्ति तक राफेल डील की जांच में इंतजार करना पड़ जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here