भाजपा शासित राज्यों में महिला अपराध हर सीमा को पार कर चुका है। बिहार में विधानसभा चुनाव के दौरान वैशाली जिले के एक गांव में उसी को दबंगों ने छेड़छाड़ का विरोध करने पर केरोसिन डालकर जला दिया।

मीडिया में इसकी खबर तक नहीं आई क्योंकि राज्य में चुनाव चल रहे थे। नीतीश सरकार की बदनामी न हो। इस वजह से इस घटना की खबर को छिपाया गया।

बताया जा रहा है कि यह घटना देसरी थाना अंतर्गत चांदपुरा ओपी के रसूलपुर गांव का है।

जहाँ छेड़खानी का विरोध करने पर 20 साल की मुस्लिम युवती को सतीश यादव नाम के मनचले ने अपने साथियों के साथ मिलकर जला दिया। 15 दिन तक पीड़िता पीएमसीएच अस्पताल में भर्ती रही। कल उसने आखिरी साँसें ली।

दरअसल पीड़िता की मां ने इस बारे में सतीश यादव के परिवार से शिकायत की थी कि वह उनकी लड़की को परेशान करता है। लेकिन इसके बाद गुस्से में आकर सतीश यादव ने अपने दबंग दोस्तों के साथ मिलकर मुस्लिम युवती को जला दिया। अस्पताल पहुंचने तक वह 75 फीसदी जल चुकी थी।

अब पीड़िता की मौत के बाद परिजनों ने राज्य की पुलिस और सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

उन्होंने पीड़िता के लिए न्याय की मांग करते हुए पटना मुख्यालय की महिला संगठन पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाएं हैं।

इस मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा गठबंधन पर निशाना साधा है। उन्होंने दबंगों द्वारा पीड़िता को शेयर करते हुए लिखा है कि “किसका अपराध ज़्यादा ख़तरनाक है-जिसने ये अमानवीय कर्म किया? या जिसने चुनावी फ़ायदे के लिए इसे छुपाया ताकि इस कुशासन पर अपने झूठे ‘सुशासन’ की नींव रख सके?”

इस मामले में महिला नेत्री किरण यादव का 30 अक्टूबर को यह घटना घटी थी। पीड़िता के मुस्लिम समाज से होने के कारण पुलिस ने एफआईआर दर्ज करके भी इस घटना को छुपाने की कोशिश की। अभी तक किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

10 + 12 =