pulwama
Pulwama

दिल्ली में दंगे की खबरों के बीच एक ऐसी खबर आई है जिसने पूरे देश का ध्यान अपनी ओर खींचा है। खबर है कि पुलवामा हमले मामले के अभियुक्त को बेल दे दी गई है। ख़बर के आते ही मोदी सरकार के खिलाफ तमाम प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई हैं।

फिल्ममेकर और पत्रकार विनोद कापड़ी लिखते हैं- ‘जिस मोदी ने पूरा चुनाव पुलवामा के नाम पर लड़ा और जीता वो मोदी देश को बताएं कि पुलवामा के आरोपी को जमानत कैसे मिल गई।’

प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने लिखा – यह जानकर बेहद हैरानी हो रही है कि पुलवामा मामले के आरोपी को बेल मिल गई है क्योंकि एनआईए दूसरे कामों में इतना बिजी है कि उनके खिलाफ चार्जशीट तक भी नहीं फाइल कर सकी।

यह हमारे शहीदों का अपमान है। जिस सरकार ने इस दुखद हमले का राजनीतिक इस्तेमाल किया, वही शहीदों को न्याय दिलाने के लिए गंभीर नहीं थी, अब यह बात स्पष्ट हो चुकी है।’

दरअसल पिछले साल फरवरी के महीने में सीआरपीएफ के जवानों पर विस्फोटक हमला हुआ, जिसमें 44 जवान शहीद हो गए। इस घटना के बाद पीएम मोदी समेत बीजेपी के तमाम नेताओं ने जवानों की शहादत के नाम पर जगह-जगह वोट मांगा।

लेकिन अब यह खबर आ रही है कि एनआईए ने आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट तक नहीं फाइल की थी, जिस वजह से उन्हें जमानत मिल गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here