देश में हर दिन लाखों की संख्या में कोरोना संक्रमण के मामले निकल रहे हैं। भारत के पास दो-दो वैक्सीन होने के बावजूद सरकार कोरोना महामारी को कंट्रोल करने में असमर्थ साबित हो रही है। दरअसल मोदी सरकार अपना पूरा ध्यान देश में चल रहे विधानसभा चुनावों पर लगा रही है।

राजनीतिक दलों की चुनावी रैलियों में भीड़ इक्क्ठी कर कोरोना के कारण बनी स्थिति को और खतरनाक बनाने की कोशिश की जा रही है।

दूसरी तरफ देखा जाए तो देश के कई राज्यों में वैक्सीन और दवाइयों की कमी आ चुकी है।

कई राज्यों में सरकारी अस्पतालों और कोविड के लिए बनाए गए सेंटरों में कई हफ्तों सेे वैक्सीन नहीं पहुंची है। जबकि भारत से विदेशों में वैक्सीन को निर्यात किया जा रहा है।

कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी ने इस मामले में भाजपा सरकार पर निशाना साधा है। प्रियंका गाँधी ने कांग्रेस द्वारा शुरू किए गए एक अभियान की वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि

“क्योंकि सबके लिए वैक्सीन जुमला न बने। क्योंकि सरकार इवेंट से ज्यादा जनता पर ध्यान दे। क्योंकि सबको जानने का हक है कि पीएम केयर के नाम पर इकट्ठा फंड कहां खर्च हो रहा है। क्योंकि वैक्सीन बाहर भेजने की बजाय, सरकार हर भारतीय को वैक्सीन देने पर ध्यान लगाए।”

दरअसल कांग्रेस द्वारा स्पीक अप फॉर वैक्सीन फॉर ऑल एक अभियान शुरू किया गया है। कांग्रेस द्वारा यह मांग की गई है कि एक तय समय सीमा में सभी भारतीय नागरिकों के लिए सरकार द्वारा वैक्सीन सुनिश्चित की जाए।

वैक्सीन के निर्यात पर तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए। कांग्रेस ने इस अभियान में लोगों को सोशल मीडिया के जरिए इससे जुड़ने की अपील की है।

बताया जाता है कि गैर भाजपा शासित राज्यों में कोरोना वैक्सीन की कमी का संकट ज्यादा है।

महाराष्ट्र सरकार द्वारा यह आरोप लगाए गए थे कि मोदी सरकार भाजपा शासित राज्य और गैर भाजपा शासित राज्यों में कोरोना वैक्सीन सप्लाई में भेदभाव कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

3 × 5 =